ताज़ा खबर
 

GST काउंसिल सुप्र‍िटेंडेंट पर व्‍यापारियों से रिश्‍वत लेने का आरोप, CBI ने दो को किया अरेस्‍ट

एजेंसी का आरोप है कि अध्‍ािकारी 'रिश्‍वत' के एवज में व्‍यापारियों पर कार्रवाई नहीं कर रहे थे।

नरेंद्र मोदी सरकार ने एक जुलाई से पूरे देश में जीएसटी लागू किया है। (फाइल फोटो)

केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (सीबीआई) के जीएसटी काउंसिल के अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्‍टाचार का मामला दर्ज किया है। एजेंसी ने जीएसटी काउंसिल के सुप्रिटेंडेंट मनीष मल्‍होत्रा और प्राइवेट टैक्‍स कंसल्‍टेंट मानस पात्रा के खिलाफ सरकारी अफसरों से रिश्‍वत लेने का आरोप लगाया है। एजेंसी का आरोप है मल्‍होत्रा और अन्‍य अधिकारी मिलकर नियमित समय पर मिलने वाली ‘रिश्‍वत’ के एवज में व्‍यापारियों पर कार्रवाई नहीं कर रहे थे। मानस पात्रा, मल्‍होत्रा के प्रतिनिधि के रूप में व्‍यापारियों से संपर्क करता था और मासिक/त्रैमासिक आधार पर रिश्‍वत की रकम चेक, एनईएफटी और नकद में ली जाती थी। सीबीआई को जानकारी मिली है मानस पात्रा ने मल्‍होत्रा के लिए पिछले कुछ दिनों में भारी रिश्‍वत ली है। सीबीआई ने मल्‍होत्रा और पात्रा को गिरफ्तार कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App