ताज़ा खबर
 

CBI मुख्यालय पर कांग्रेस का हल्ला-बोल, कार पर चढ़े राहुल गांधी; बोले- आलोक वर्मा को हटाने से PM की राह नहीं होगी आसान

कांग्रेस ने इसके अलावा पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश समेत कई अन्य राज्यों में भी सीबीआई दफ्तर के बाहर जमकर बवाल काटा। कहीं बैनर-पोस्टर के जरिए शांतिपूवर्क धरना दिया, तो किसी जगह पर नौबत वॉटर कैनन तक चलने की आ पहुंची।

सीबीआई मुख्यालय के पास एक गाड़ी पर अन्य नेताओं के साथ बैठे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी। (फाइल फोटो)

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के मुखिया आलोक वर्मा को अचानक छुट्टी पर भेजे जाने के विरोध में कांग्रेस ने शुक्रवार को दिल्ली स्थित सीबीआई मुख्यालय समेत देशभर के सीबीआई दफ्तरों के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किए। राजधानी दिल्ली से इन प्रदर्शनों का नेतृत्व खुद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने किया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं संग सुबह करीब सवा 11 बजे वह लोधी रोड स्थित दयाल सिंह कॉलेज के बाहर से पैदल मार्च लेकर निकले थे। कांग्रेस का काफिला, जब सीबीआई मुख्यालय के पास पहुंचा तो रास्ते में उसे बैरिकेड मिले। राहुल उसी दौरान पार्टी नेताओं व समर्थकों संग बैरिकेड पर चढ़ कर बैठ गए और केंद्र के खिलाफ नारेबाजी करने लगे थे।

बैरिकेड से उतरने के बाद वह एक गाड़ी पर चढ़ कर बैठ गए। हालांकि, काफी देर समझाने-बुझाने के बाद वह नीचे उतरे, जिसके बाद वह सांकेतिक गिरफ्तारी देने के लिए लोधी रोड पुलिस थाने पहुंचे। दोपहर दो बजे के आसपास कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि केंद्र के फैसले (वर्मा को हटाने) का विरोध कर रहे कांग्रेस अध्यक्ष समेत अन्य नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

CBI Feud, CBI Case, Rahul Gandhi, Congress, Delhi, CBI Headquarters, Protest, All India Protest, Central Government, Narendra Modi, CBI Director, Force Leave, Alok Verma, Delhi News, CBI News, India News, Hindi News लोधी रोड पुलिस थाने में शुक्रवार दोपहर सांकेतिक गिरफ्तारी देने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष।

CBI विवादः SC बोला- राव नहीं लेंगे नीतिगत निर्णय; 2 हफ्ते में CVC पूरी करे जांच; अगली सुनवाई 12 को

राहुल ने बाद में पत्रकारों से कहा, “पीएम भाग सकते हैं। वह छुप सकते हैं। लेकिन अंत में सच सामने आ ही जाएगा। सीबीआई डायरेक्टर को ‘हटाने’ से उनकी राह आसान न होगी। पीएम ने सीबीआई डायरेक्टर के खिलाफ यह कदम इसलिए उठाया, क्योंकि वह उस वक्त हैरान-परेशान थे।” देखिए, कैसे राहुल ने ‘चौकीदार चोर है’ के नारे लगवाए-

कांग्रेस ने इसके अलावा पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश समेत कई अन्य राज्यों में भी सीबीआई दफ्तर के बाहर जमकर बवाल काटा। कहीं बैनर-पोस्टर के जरिए शांतिपूवर्क धरना दिया, तो किसी जगह पर नौबत वॉटर कैनन तक चलने की आ पहुंची।

आपको बता दें कि कांग्रेस ने यह देशव्यापी विरोध प्रदर्शन केंद्र में आसीन नरेंद्र मोदी सरकार के उस फैसले पर किया, जिसमें देश की सबसे जांच एजेंसी के मुखिया को घूस के आरोपों के चलते अचानक छुट्टी पर भेज दिया गया था।

राहुल ने केंद्र के इस फैसले की पीछे के वजह भी बताई थी। उन्होंने दावा किया था कि मोदी सरकार राफेल डील पर जांच नहीं होने देना चाहती है। ऐसे में उसने यह कदम उठाया। चूंकि वर्मा ने कुछ ही समय पूर्व सीबीआई से जुड़ी कुछ फाइलें मंगाई थीं और वह उस संबंध में जांच शुरू कराने वाले थे। कांग्रेस अध्यक्ष का आरोप है कि वर्मा को जानबूझकर छुट्टी पर भेजा गया है, जो कि सरासर गलत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App