ताज़ा खबर
 

सीबीआई में नंबर-2 रहे राकेश अस्थाना की एजेंसी से ‘छुट्टी’, 3 अन्य अफसरों पर भी गाज

अस्थाना के अलावा जिन तीन अधिकारियों का ट्रांसफर हुआ है, उनमें अरुण कुमार शर्मा, मनीष कुमार सिन्हा और जयंत.जे.नैकनावरे शामिल हैं।

पूर्व सीबीआई चीफ आलोक वर्मा और अस्थाना ने एक-दूजे पर रिश्वतखोरी के आरोप लगाए थे। (एक्सप्रेस फोटोः प्रेमनाथ पांडे)

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) विवाद में नंबर-दो अधिकारी और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को नरेंद्र मोदी सरकार ने गुरुवार (17 जनवरी, 2019) को संगठन से बाहर का रास्ता दिखा दिया। उन्हें अब ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी में भेजा गया है, जहां बड़े स्तर पर एयरपोर्ट और फ्लाइट सुरक्षा संबंधी काम-काज होता है। अस्थाना के अलावा देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी के तीन अन्य अफसरों पर भी गाज गिरी है। मोदी सरकार ने अरुण कुमार शर्मा, मनीष कुमार सिन्हा और जयंत.जे.नैकनावरे के कार्यकाल में कटौती की है।

बता दें कि अस्थाना वही अफसर हैं, जिनसे विवाद के चलते सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की कुछ दिन पहले कुर्सी चली गई थी। अस्थाना और वर्मा ने एक दूसरे पर घूसखोरी के आरोप लगाए थे। अस्थाना पर मोइन कुरेशी मामले में रिश्वत लेने का आरोप है। मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उस दौर में अस्थाना गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी थे। वहीं, सिन्हा पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल का फोन टैप कराने के आरोप हैं।

इस वजह से हटाए गए स्पेशल डायरेक्टरः सूत्रों के हवाले से कुछ टीवी रिपोर्ट्स में कहा गया कि देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी से अस्थाना को इसलिए बाहर किया गया, क्योंकि प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) चाहता है कि जो भी इस विवाद  विवाद की जड़ है, उसे संगठन से बाहर कर दिया जाए। जिस भी व्यक्ति के कारण सीबीआई की छवि को नुकसान हुआ है, उसे बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

सीबीआई का नया डायरेक्टर कौन होगा?: 24 जनवरी को इसे लेकर एक बैठक होगी, जिसमें नए निदेशक का नाम तय होगा। कहा जा रहा है कि पीएमओ ने वह सूची भी शॉर्टलिस्ट कर ली है, जिसमें सीबीआई निदेशक की रेस में शामिल लोगों के नाम है। दौड़ में तीन लोग बताए जा रहे हैं। साथ ही कहा गया कि 1984 बैच के किसी अधिकारी को नया सीबीआई चीफ बनाया जा सकता है।

एसएआई के दफ्तर पर सीबीआई का छापा, 4 अरेस्टः सीबीआई के दस्ते ने गुरुवार को स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एसएआई) के दफ्तर पर छापेमारी की। एएनआई के अनुसार, सीबीआई ने एसएआई निदेश समेत चार अधिकारियों को कथित भ्रष्टाचार के मामले को लेकर गिरफ्तार किया है। सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई अधिकारियों को लगभग दो महीने पहले सूचना मिली थी कि संगठन में कुछ लोगों ने घूस ली। सीबीआई उसी सिलसिले में कुछ अधिकारियों से पूछताछ के लिए पहुंची थी। एसएआई की महानिदेशक नीलम कपूर ने बताया, “एसएआई में भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं किया जाता है। हम इसके खिलाफ हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App