ताज़ा खबर
 

हिंदू पाकिस्तान वाले बयान पर कोलकाता में शशि थरूर पर केस, फेसबुक से मिलेगा समन!

याचिकाकर्ता का आरोप है कि थरुर ने लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत की हैं, देश के संविधान को बदनाम किया है और देश में सद्भाव को नुकसान पहुंचाकर धर्म के आधार पर अलगाव को बढ़ावा दिया है।

कांग्रेस सांसद शशि थरुर। (express archive)

वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरुर अपने हिंदू पाकिस्तान वाले बयान पर मुश्किलों में फंसते नजर आ रहे हैं। दरअसल शुक्रवार को कोलकाता के एक वकील ने शशि थरुर के खिलाफ केस कर दिया है। शशि थरुर पर देश को बदनाम करने और लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगा है। बता दें कि केरल के तिरुवंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरुर ने बीते दिनों यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि यदि 2019 के आम चुनावों में भाजपा को जीत मिलती है तो इससे भारत के एक हिंदू पाकिस्तान बनने की शुरुआत हो जाएगी।

सूत्रों के अनुसार, कोलकाता के वकील सुमीत चौधरी ने शशि थरुर के खिलाफ इंडियन पीनल कोड की धारा 153ए/ 295ए और सेक्शन- 2 के प्रीवेंशन ऑफ इंसल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया है। याचिकाकर्ता का आरोप है कि थरुर ने लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत की हैं, देश के संविधान को बदनाम किया है और देश में सद्भाव को नुकसान पहुंचाकर धर्म के आधार पर अलगाव को बढ़ावा दिया है। याचिकाकर्ता के अनुसार शशि थरुर ने भारत जैसे सेक्यूलर देश की तुलना इस्लामिक देश पाकिस्तान से करके भारत की बेइज्जती की है। साथ ही शशि थरुर ने अपने बयान पर माफी मांगने से भी इंकार कर दिया है।

जी न्यूज की एक खबर के अनुसार, कोलकाता की एक अदालत ने शशि थरुर को ट्विटर और फेसबुक के माध्यम से कानून के दायरे में रहते हुए समन जारी करने का आदेश दिया है। बता दें कि थरुर ने अपने बयान में कहा था कि यदि भाजपा दोबारा सत्ता में आयी तो वह संविधान में बदलाव कर देश के हिंदू पाकिस्तान बनाने का रास्ता तैयार करेगी। बुधवार को तिरुवंतपुरम में एक कार्यक्रम के दौरान थरुर ने कहा था कि “भाजपा के दोबारा सत्ता में आने पर लोकतांत्रिक संविधान, जिसे हम जानते हैं, वह सर्वाइव नहीं कर पाएगा…क्योंकि फिर उनके पास वो तीनों एलीमेंट होंगे, जिसकी मदद से वह देश के संविधान को फिर से लिखने की कोशिश करेंगे, जो कि बाद में हिंदू राष्ट्र बनाने में मदद करेगा। भाजपा अल्पसंख्यकों से बराबरी का अधिकार छीन लेगी, जिससे यहां हिंदू पाकिस्तान का निर्माण हो जाएगा, लेकिन ये वो चीज नहीं है, जिसके लिए हमारे हीरो महात्मा गांधी, नेहरु, सरदार पटेल, मौलाना आजाद जैसे लोग लड़े थे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App