ताज़ा खबर
 

सांसद ओवैसी, AIMIM नेता वारिस पठान और बीजेपी के कपिल मिश्रा के खिलाफ तेलंगाना में केस दर्ज, दो समुदायों में दुश्मनी बढ़ाने के आरोप

शाहीन बाग में जारी सीएए विरोधी प्रदर्शनों को लेकर पहले वारिस पठान और फिर कपिल मिश्रा ने कथित तौर पर भड़काऊ भाषण दिए थे, इसके बाद ही दिल्ली में हिंसा भड़की थी।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: March 13, 2020 3:20 PM
AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के साथ वारिस पठान (बाएं) और भाजपा नेता कपिल मिश्रा।

Delhi Violence: दिल्ली हिंसा शांत होने के करीब 16 दिन बाद तेलंगाना में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता वारिस पठान और पार्टी के सांसद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ केस दर्ज हुए हैं। इसके अलावा भाजपा नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है। आरोप है कि तीनों ने धार्मिक समुदायों के बीच नफरत फैलाई। यह शिकायत गुरुवार को बालकिशन राव नामधारी ने दर्ज कराई है। बता दें कि वारिस पठान और कपिल मिश्रा ने फरवरी में नागरिकता संशोधन कानून और शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को लेकर कथित तौर पर भड़काऊ भाषण दिए थे। इसके कुछ ही दिन बाद दिल्ली में हिंसा शुरू हो गई थी, जिसमें करीब 50 लोगों की मौत हुई।

वारिस पठान ने क्या कहा था?: असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के पूर्व विधायक वारिस पठान ने विवादित बयान दिया था। शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन और सीएए पर बोलते हुए वारिस पठान ने कहा था, ‘वो लोग हम पर आरोप लगाते हैं कि हमने अपनी महिलाओं को आगे रखा हुआ है। अभी तक सिर्फ शेरनियां बाहर आई हैं और तुम्हारे पहले ही पसीने निकल रहे हैं। तुम समझ सकते हो कि अगर हम सब एक साथ आगे आ गए तो क्या होगा। हम 15 करोड़ हैं लेकिन हम 100 करोड़ पर भारी हैं।’ पठान ने यह बयान द‍िल्‍ली से काफी दूर द‍िया था, लेक‍िन इसका वीड‍ि‍यो जंगल में आग की तरह फैला। बाद में उन्‍होंने माफी मांगते हुए बयान वापस ल‍िया, लेक‍िन तब तक इस पर ज‍ितना व‍िवाद होना था, हो चुका था।

क्या था कपिल मिश्रा का कथित भड़काऊ भाषण?: कपिल मिश्रा 23 फरवरी के एक वीडियो में कहते दिख रहे हैं- “दिल्ली में आग लगी रहे, ये यही चाहते हैं। इसीलिये इन्होंने रास्ते बंद किए हैं और इसीलिए ये दंगों जैसा माहौल बना रहे हैं। हमारी तरफ से एक भी पत्थर नहीं चला है। डीसीपी साहब हमारे सामने खड़े हैं। मैं आप सबकी तरफ से ये बात कह रहा हूं। ट्रंप के जाने तक तो हम शांति से जा रहे हैं, लेकिन इसके बाद रास्ते खाली नहीं हुए तो हम आपकी भी नहीं सुनेंगे। ट्रंप के जाने तक आप जाफराबाद और चांदबाग खाली करा दीजिए, ऐसी आपसे विनती कर रहे हैं , उसके बाद हमें सड़कों पर आना पड़ेगा।”

वारिस-ओवैसी पर बिहार में भी दर्ज हो चुका है मामला?: वारिस पठान और असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ बिहार की एक अदालत में भी केस दर्ज हो चुका है। यह शिकायत अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने दर्ज कराई थी। इसमें कहा गया था कि ओवैसी को आरोपी नंबर दो बनाया गया, क्योंकि जब वारिस नफरत भरा भाषण दे रहे थे, तब ओवैसी मंच पर ही मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 आपकी दादी से आपकी नाक मिल सकती है, तो क्या उनके विचार भी नहीं मिल सकते’, प्रियंका गांधी की फोटो शेयर कर यूजर्स ले रहे मजे
2 तो क्या विराट कोहली पाकिस्तान टीम ज्वाइन कर लेते अगर नहीं बनते कैप्टन? कांग्रेस नेता ने ज्योतिरादित्य पर साधा निशाना