कैप्टन अमरिंदर ने की पंजाब के नुकसान की बात तो बोले हरियाणा के गृहमंत्री- आपने ही किसानों को भड़काया

अनिल विज ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का किसानों को यह कहना कि हरियाणा में या दिल्ली में जाकर जो चाहो करो और पंजाब में मत करो बहुत ही गैर-जिम्मेदाराना बयान है।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

लंबे वक्त से जारी किसानों के आंदोलन को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को एक बयान दिया जिसके बाद हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कैप्टन पर निशाना साधा। दरअसल, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि किसानों के विरोध प्रदर्शन का पंजाब की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है। उन्होंने आंदोलन में शामिल किसानों को सलाह दी कि अगर वह केंद्र सरकार पर दबाव बनाना चाहते हैं तो प्रदर्शन नई दिल्ली में करें। कैप्टन ने किसानों से कहा है कि आंदोलन को पंजाब से बाहर ले जाएं। उन्होंने कहा, ‘अगर आप केंद्र सरकार पर दबाव बनाना चाहते हैं, तो अपना विरोध प्रदर्शन दिल्ली में करें, पंजाब को परेशान न करें।’

फिर क्या था, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान पर हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने पलटवार किया। अनिल विज ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का किसानों को यह कहना कि हरियाणा में या दिल्ली में जाकर जो चाहो करो और पंजाब में मत करो बहुत ही गैर-जिम्मेदाराना बयान है। इससे यह साबित होता है किसानों को भड़काने का काम अमरिंदर सिंह ने ही किया है।

इससे पहले पंजाब के होशियारपुर जिले के मुखलियाना गांव में एक सरकारी कॉलेज की आधारशिला रखने के कार्यक्रम में शामिल होते हुए सिंह ने कहा कि आज भी किसान राज्य में 113 जगहों पर विरोध कर रहे हैं। उनका यह विरोध हमारे विकास को प्रभावित कर रहा है।

बता दें कि दिल्ली की सीमाओं पर बैठे ज्यादातर किसान हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हैं। इन सभी जगहों पर किसानों को मनाने के लिए तमाम वादे और दावे किए जा रहे हैं। फिलहाल किसान अपनी मांगों पर डटे हुए हैं। आंदोलन से जुड़े किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांगों को स्वीकार करते हुए सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती है तब तक वह डटे रहेंगे।

इससे पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि किसानों में बढ़े आक्रोश और बेचैनी के लिए पंजाब नहीं, बल्कि बीजेपी सीधे तौर पर जिम्मेदार है। कैप्टन ने हरियाणा के मुख्यमंत्री के आरोप की निंदा की थी और कहा था कि मनोहर लाल करनाल में किसानों पर हुए हमले से खुद का बचाव कर रहे हैं। कैप्टन ने यह प्रतिक्रिया मनोहर लाल और दुष्यंत चौटाला द्वारा कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के पीछे पंजाब का हाथ होने के आरोपों के संदर्भ में कही थी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।