scorecardresearch

कैमरा जीवी…जापान में जब PM मोदी ने कैमरे के सामने से बिजनेस मैन को हटाया तो कांग्रेस नेता ने कसा तंज

नई दिल्लीः एक ने लिखा कि ये जितना प्रेम कैमरे से करते है उतना प्रेम देश से करते तो इस देश की दशा और दिशा कब की बदल गई होती।

pm modi
जापान में बिजनेस मैनों के साथ पीएम मोदी। (फोटोः ANI)

पीएम मोदी टोक्यो में 24 मई को क्वाड शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और ऑस्ट्रेलिया व जापान के प्रधानमंत्रियों के साथ शामिल होंगे। प्रधानमंत्री ने जापान में कई उद्योगपतियों से मुलाकात की। वह सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प के बोर्ड निदेशक मासायोशी सोन, सुजुकी मोटर कॉरपोरेशन के सलाहकार ओसामू सुजुकी से मिले। ऐसी ही एक मुलाकात के दौरान मोदी ने एक बिजनेस मैन को कैमरे के सामने से हटाया तो कांग्रेस नेता अलका लांबा ने उन पर तंज कस दिया।

उधर, सोशल मीडिया पर लोगों ने कुछ इस तरह से रिएक्ट किया। नीरज कुमार सिंह ने लिखा कि ये जितना प्रेम कैमरे से करते है उतना प्रेम देश से करते तो इस देश की दशा और दिशा कब की बदल गई होती। एक ने लिखा कि 100 साल चलनी चाहिए ये तस्बीरे अंधभक्त के बच्चे पोते पोतियों के लिए। जंगशेर खान ने लिखा कि कैसे इंग्लिश में बात की होगी इस कैमरा जीवी ने? एक ने लिखा कि सुजुकी का सलाहकार! ऐसे मिल रहा है जैसे वही जापान का सर्वे सर्वा हो।

हर हर महादेव के हैंडल से ट्वीट किया गया कि ये कैमरा जीवी ने पाकिस्तान व चाइना की नींद उड़ा रखी है। इस बंदे से बहुत आशा है। ये 4 देश ऐसे ही नहीं जुड़े। पाकिस्तान नाक रगड़ कर आया। अमेरिका के पास पर वो नहीं माना। आज तक की सब से बड़ी असलहों की डील अमेरिका ने की भारत के साथ। आज भारत के साथ ये सब ये ही कैमरा जीवी की ताकत है।

पंकज नाम के यूजर ने अलका लांबा को नसीहत दे लिखा कि आप का मानसिक स्तर शायद नीचा होता जा रहा है? क्या आपको लगता है कि ऐसी मानसिकता से तुम लोग कांग्रेस या राहुल को जिता पाओगे? एक ने लिखा कि अलकाजी बहुत बहुत मिर्ची लगती होगी क्यों। यह भारत का सम्मान है। पीके सैनी ने लिखा कि तुम जैसे पागल लोगों के कारण ही आज कांग्रेस की ये हालत है।

भारतीय समुदाय से रूबरू हुए मोदी

पीएम मोदी ने यहां भारतीय समुदाय को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत की विकास यात्रा में जापान की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय प्रवासियों से कहा कि मुझे मक्खन पर लकीर करने में मजा नहीं आता, मैं पत्थर पर लकीर करता हूं। हमने भारत में एक मजबूत, लचीले और जिम्मेदार लोकतंत्र की पहचान बनाई है। बीते आठ साल में इसे हमने लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव का माध्यम बनाया है। लोगों ने ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाकर किया उनका स्वागत किया।

इस दौरान विदेश सचिव विनय क्वात्रा और यूएस इंटरनेशनल डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (यूएसआईडीएफसी) के सीईओ स्कॉट नेथन ने भारत-अमेरिका इन्वेस्टमेंट इंसेंटिव समझौते (आईआईए) पर दस्तखत किए हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस समझौते से भारत में यूएसआईडीएफसी की ओर से मिलने वाले निवेश सहयोग में और इजाफा होगा। देश के मुख्य क्षेत्रों में निवेश को प्रोत्साहन मिलेगा।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.