ताज़ा खबर
 

CJI समेत 8 जजों के खिलाफ जस्टिस कर्णन जाएंगे इंटरनेशनल कोर्ट, अवमानना में काट चुके हैं जेल

छह महीने की सजा काटकर जेल से रिहा होने के बाद जस्टिस कर्णन ने अपना राजनीतिक दल एंटी करप्शन डायनमिक पार्टी लॉन्च करने की घोषणा की थी और सभी 543 लोकसभा सीटों पर महिला उम्मीदवार खड़ा करने का एलान किया था।

जस्टिस सीएस कर्णन को सुप्रीम कोर्ट ने छह महीने की सजा सुनाई थी। (Express Photo)

कलकत्ता हाई कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस (रिटायर्ड) सी एस कर्णन फिर सुर्खियों में हैं। इस बार उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पत्र लिखकर शिकायत की है कि पूर्व में जज रहते हुए उन्होंने मौजूदा चीफ जस्टिस समेत कुल आठ जजों के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट का उल्लंघन करने के आरोप में सजा का एलान किया था लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। जस्टिस कर्णन ने लिखा है कि अब वो इस मामले को हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के सामने उठाने जा रहे हैं क्योंकि अभी तक उन्हें इस मामले में न तो न्याय मिल सका है और न ही उस पर कोई कार्रवाई हुई है। बतौर जस्टिस कर्णन उन्हें भारत में इस मामले में इंसाफ मिलने की उम्मीद नहीं है। बता दें कि पिछले साल जस्टिस कर्णन ने सुप्रीम कोर्ट और मद्रास हाईकोर्ट के 20 सीटिंग जजों को करप्ट बताते हुए उनकी शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक खत के जरिए की थी।

जस्टिस कर्णन ने तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जे एस खेहर, मौजूदा मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस एम बी लोकुर, जस्टिस पी सी घोष, जस्टिस कुरियन जोसेफ और जस्टिस भानुमति को करप्ट, एंटी सोशल एलिमेंट और टेररिस्ट कहते हुए दोषी ठहराया था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट की सात जजों की पीठ ने स्वत: संज्ञान लेते हुए 9 मई 2017 को उन्हें कोर्ट की अवमानना का दोषी ठहराते हुए छह महीने की सजा सुनाई थी और पश्चिम बंगाल पुलिस को आदेश दिया था कि उन्हें अविलंब गिरफ्तार करे। जस्टिस कर्णन के मामले में तब 12 एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड ने पैरवी करने से मना कर दिया था। हालांकि बाद में वरिष्ठ वकील मैथ्यू जे नेदुंपरा ने उनकी पैरवी की थी। सजा सुनाए जाने के बाद से जस्टिस कर्णन फरार चल रहे थे लेकिन 12 जून को सेवा से रिटायर होने के बाद उन्हें 20 जून को कोयम्बटूर से गिरफ्तार कर लिया गया था।

छह महीने की सजा काटकर जेल से रिहा होने के बाद जस्टिस कर्णन ने अपना राजनीतिक दल एंटी करप्शन डायनमिक पार्टी लॉन्च करने की घोषणा की थी और सभी 543 लोकसभा सीटों पर महिला उम्मीदवार खड़ा करने का एलान किया था। जस्टिस कर्णन ने पीएम मोदी के खिलाफ भी महिला प्रत्याशी उतारने का एलान किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App