ताज़ा खबर
 

भारत में फेसबुक-व्हाट्सएप पर बैन लगाने की मांग, केंद्रीय मंत्री से मिला CAIT का प्रतिनिधि मंडल

कैट ने कहा कि भारत में फेसबुक के 20 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता हैं और इसे हर उपयोगकर्ता के डेटा तक पहुंचने में सक्षम करने से न केवल अर्थव्यवस्था बल्कि देश की सुरक्षा के लिये गंभीर खतरा पैदा हो सकता है।

facebook whatsappइस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। फाइल फोटो।

खुदरा कारोबारियों के संगठन कैट ने सरकार से व्हाट्सऐप और उसकी मूल कंपनी फेसबुक के ऊपर रोक लगाने की मांग की। संगठन ने सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को पत्र लिखकर यह मांग की। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने व्हाट्सऐप की नयी निजता नीति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि उसे (व्हाट्सऐप) इसे लागू करने से रोका जाना चाहिये या फिर उसपर पूरी तरह से रोक लगा दी जानी चाहिये। कैट ने सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को लिखे पत्र में कहा, ‘‘सरकार को या तो व्हाट्सऐप को नयी नीति लागू करने से रोकना चाहिये या फिर व्हाट्सऐप के ऊपर रोक लगानी चाहिये।’’ कैट ने कहा कि भारत में फेसबुक के 20 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता हैं और इसे हर उपयोगकर्ता के डेटा तक पहुंचने में सक्षम करने से न केवल अर्थव्यवस्था बल्कि देश की सुरक्षा के लिये गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। हालांकि, पीटीआई-भाषा को एक ईमेल के जवाब में व्हाट्सऐप के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमने पारर्दिशता को बढ़ावा देने के लिये निजता की नयी नीति बनाई है।’’

इंस्टैंट मैसेंजिंग सेवा प्रदाता व्हाट्सएप ने शनिवार को कहा कि उसके नये अपडेट से फेसबुक के साथ डेटा साझा करने की नीतियों में कोई बदलाव नहीं आयेगा। व्हाट्सएप पर फेसबुक का पूर्ण स्वामित्व है। व्हाट्सएप ने यह सफाई नये अपडेट की दुनिया भर में हो रही कड़ी आलोचनाओं के बाद दी है।

व्हाट्सएप ने इस सप्ताह की शुरुआत में अपने उपयोक्ताओं को सेवा की शर्तों और गोपनीयता की नीति के बारे में अपडेट देना शुरू किया। व्हाट्सएप ने इसमें बताया कि वह कैसे उपयोक्ताओं के डेटा का प्रसंस्करण करती है और उन्हें (डेटा को) फेसबुक के साथ किस तरह से साझा करती है। अपडेट में यह भी कहा गया कि व्हाट्सएप की सेवाओं का उपयोग जारी रखने के लिये उपयोक्ताओं को आठ फरवरी, 2021 तक नयी शर्तों व नीति से सहमत होना होगा।

इसने इंटरनेट पर व्हाट्सएप के फेसबुक के साथ उपयोगक्ताओं की जानकारियां साझा करने को लेकर बहस की शुरुआत कर दी। इसके बाद सिग्नल और टेलीग्राम जैसे प्रतिद्वंद्वी ऐप के डाउनलोड में वृद्धि देखी जा रही है। टेस्ला के प्रमुख एलन मस्क भी इस बहस में कूद पड़े और उन्होंने लोगों से व्हाट्सएप का इस्तेमाल बंद करने की अपील भी की। व्हाट्सएप के प्रमुख विल कैथार्ट ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए इस बारे में अपनी राय साझा की।

उन्होंने कहा कि कंपनी ने अपनी नीति ‘पारदर्शी होने और पीपुल-टू-बिनजेस के वैकल्पिक फीचर की जानकारी देने‘ के लिये अपडेट की है। उन्होंने कहा, ‘‘यह स्पष्ट होना हमारे लिये महत्वपूर्ण है कि यह अपडेट कारोबार संबंधी जानकारियां देने के लिये है। इससे फेसबुक के साथ डेटा साझा करने की हमारी नीतियों पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है।’’

Next Stories
1 चीन ने LAC के पास निर्माण किया, लद्दाख के नेता ने बताया- अब पास से भी नजर आता है सबकुछ
2 आनंद महिंद्रा ने इंस्टॉल किया Signal, लोग बोले- प्राइवेसी का डर है तो सोशल मीडिया भूल जाइये
3 रतन टाटा के बंगले से भी मिलती है सादगी की झलक, ऊपर से नीचे तक करा रखा था सफेद पेंट
ये पढ़ा क्या?
X