ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री बोले- कश्‍मीर मुद्दा कांग्रेस की देन, अगर पटेल पर छोड़ा होता तो सब ठीक हो गया होता

केरल में कांग्रेस के कुछ नेताओं के भाजपा में शामिल होने की योजना की अटकलों पर केंद्रीय मंत्री ने दावा किया कि भगवा पार्टी किसी को लुभाने का कोई प्रयास नहीं कर रही।
केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर आरोप लगाया, आप राष्ट्रवादियों के साथ कठोर हैं और आतंकवादियों के साथ नरम हैं। (Photo: PTI)
केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता एम वेंकैया नायडू ने गुरुवार को आरोप लगाया कि जम्मू कश्मीर का मुद्दा कांग्रेस की देन है और पार्टी अब इस मुद्दे को राजनीतिक बना रही है। नायडू ने यहां संवाददाताओं से कहा, जम्मू कश्मीर का मुद्दा कांग्रेस की देन है। अगर यह सरदार बल्लभभाई पटेल पर छोड़ दिया गया होता तो वह इससे सफलतापूर्वक निपट लेते, जिन्होंने 565 रियासतों का सफलतापूर्वक एकीकरण किया था। नायडू विपक्षी दलों द्वारा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सौंपे एक ज्ञापन में कश्मीर का उल्लेख होने पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। ज्ञापन पर मीडिया को जानकारी देते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने बुधवार को दिल्ली में कहा था कि जम्मू कश्मीर में लगातार हिंसा और शासन की विफलता गंभीर राष्ट्रीय चिंता के विषय हैं। इस पर पलटवार करते हुए नायडू ने कहा, यह आपकी देन है। अब कांग्रेस इसे राजनीतिक बनाकर देश के लिए समस्या पैदा कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया, आप राष्ट्रवादियों के साथ कठोर हैं और आतंकवादियों के साथ नरम हैं। आप अल उम्मा के साथ सहानुभूति रखते हैं और संघ की कमियां खोजने की कोशिश करते हैं।
पाकिस्तान का नाम लिए बिना नायडू ने कहा कि एक पड़ोसी देश आतंकवादियों की मदद कर रहा है और उन्हें आर्थिक सहायता पहुंचा रहा है। केरल में कांग्रेस के कुछ नेताओं के भाजपा में शामिल होने की योजना की अटकलों पर केंद्रीय मंत्री ने दावा किया कि भगवा पार्टी किसी को लुभाने का कोई प्रयास नहीं कर रही। हालांकि उन्होंने कहा, कोई समझदार पुरुष या महिला कांग्रेस में नहीं रह सकते क्योंकि यह डूबता जहाज है। यह वास्तविकता से भटक गया है। जब नायडू से इन अटकलों के बारे में पूछा गया कि क्या कांग्रेस सांसद शशि थरूर भाजपा का दामन थाम सकते हैं, इस पर उन्होंने कहा, वह बुद्धिमान हैं। वह राजनीतिक रूप से विद्वान हैं या नहीं, यह समय ही बताएगा।
गौरतलब है कि राजनीतिक पार्टियों को चुनावी घोषणाओं के प्रति जवाबदेह होने संबंधी प्रधान न्यायाधीश जेएस खेहर के बयान के एक दिन बाद केन्द्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा था कि पार्टियों को अपने घोषणापत्रों को भगवद्गीता की तरह मानना चाहिए। इसे पवित्र ग्रंथ की तरह मानना चाहिए। आपको वह काम करना चाहिए जिनका वादा आपने किया था। उन्होंने कहा, मैं चुनाव पूर्व किए गए वादों पर सीजेआई के विचारों से सहमत हूं। कुछ पार्टियां चुनाव के दौरान गैर जिम्मेदाराना बयान देतीं हैं। अंतत: पार्टियों को हर पांच वर्ष बाद अपने काम के आधार पर ही जनता से वोट मांगना होता है।

यूनिफॉर्म सिविल कोड पर वैंकेया नायडू ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से कहा- “मुद्दे पर राजनीति न करें”, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.