ताज़ा खबर
 

मुख्तार अब्बास नकवी के यहां ईद की दावत में नहीं पहुंचे गिरिराज सिंह, मेहमान लेते रहे चुटकी

मुख्तार अब्बास नकवी और शाहनवाज हुसैन ने ईद की दावत दी थी। इसमें गिरिराज सिंह के जूनियर मंत्री संजीव बालियान तो पहुंचे, लेकिन गिरिराज दावत से नदारद ही रहे। गौरतलब है कि पिछले दिनों इफ्तार पर उनके ट्वीट की चर्चा बीजेपी के लोगों में भी काफी रही।

मुख्तार अब्बास नकवी ने रखी थी ईद की दावत, लेकिन नहीं पहुंचे गिरिराज सिंह, (फोटो सोर्स- PTI)

ईद के मौके पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और वरिष्ठ बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन द्वारा आयोजित दोपहर के भोज में कई राजनीतिक हस्तियों ने शिरकत की। लेकिन, इस दौरान बेगूसराय से सांसद और मोदी 2.0 में केंद्रीय मंत्री का ओहदा संभाल रहे गिरिराज सिंह की चर्चा हर जगह थी। द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक गिरिराज सिंह ईद की दावत में नहीं पहुंचे थे। ऐसे में उनके पिछले दिनों ट्वीट को लेकर मेहमान चुटकी लेते हुए दिखाई दिए। दावत में अधिकांश लोगों के लिए गिरिराज सिंह और उनका ट्वीट ही चर्चा के केंद्र में था।

गौरतलब है कि बिहार में सीएम नीतीश कुमार, एलजेपी के मुखिया रामविलास पासवान, बीजेपी की तरफ से सुशील मोदी और पूर्व सीएम जीतनराम माझी इफ्तार की दावत में एक साथ हंसते हुए दिखाई दे रहे थे। इस कार्यक्रम की एक तस्वीर पर ट्वीट करते हुए गिरिरज सिंह ने तंज कसा था और कहा था कि ये लोग नवरात्रि का फलाहार ही रख लेते। उन्होंने नेताओं पर दिखावा करने का भी कटाक्ष किया। गिरिराज के इस ट्वीट ने बीजेपी को काफी असहज बना दिया। मामले में तुरंत अमित शाह को दखल देना पड़ा और उन्होंने फोन करके गिरिराज सिंह को फटकार लगा डाली। इसके बाद से बेगूसराय के सांसद ने खामोशी इख्तियार कर ली।

हालांकि, नकवी और हुसैन की ईद वाली दावत में सभी को आखिर तक गिरिराज सिंह का इतजार था। सिंह के जूनियर मंत्री संजीव बालियान वहां मौजूद थे, लेकिन वो नहीं पहुंचे। इस दौरान बीजेपी के ही कुछ नेता गिरिराज को पशुपालन मंत्रालय दिए जाने और भोज में नॉनवेज परोसे जाने को लेकर भी चुटकी कसते दिखाई दिए।

Next Stories
1 NIA का खुलासा: कश्मीरी अलगावादी आसिया अंद्राबी का पाकिस्तानी सेना से कनेक्शन, ISI से मिली फंडिंग
2 पीएम का फरमान- काम में जुटिए, स्वागत करवाने से बचिए, बाहर गए मंत्रियों को फोन कर बुलवाया
3 ईद पर ममता ने दी सीख तो बोलीं अभिनेत्री,” माई फुट! हिंदू और सिख नहीं करेंगे बलिदान
ये पढ़ा क्या?
X