ताज़ा खबर
 

असम के किसान नेता अखिल गोगोई गिरफ्तार, मेघालय में 48 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा पर लगी रोक

इस पर अधिकारी ने कहा, "दोपहर के समय यहां लगभग 3,000 लोग थे। हमने उन्हें तब गिरफ्तार नहीं किया। जब वह प्रदर्शन स्थल से चले गए, तब हमारी टीमें उन्हें गिरफ्तार करने गईं। उन्हें ऐतहितायती तौर पर गिरफ्तार किया गया है।"

Author असम | Updated: December 13, 2019 8:24 AM
cab, cab news, cab protest, cab protest in assam, cab bill news, cab today news, citizenship amendment bill, citizenship amendment bill 2019, citizenship amendment bill protest, citizenship amendment bill protest today, citizenship amendment bill 2019 india, citizenship amendment bill live news, cab news, cab latest news, assam internet ban news, assam, assam news, assam latest news, assam today newsराज्य सरकारों की तरफ से लोगों को शांत रहने की अपील की जा रही है। (फोटोः पीटीआई)

असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ ंिहसक प्रदर्शनों के बीच बृहस्पतिवार को आरटीआई कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई को जोरहाट से ऐहतियातन गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। जोरहाट प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि जिले के साथ-साथ राज्य के अन्य क्षेत्रों में किसी भी “अप्रिय घटना” से बचने के लिये गोगोई को गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले दोपहर के समय कृषक मुक्ति संग्राम समिति के सलाहकार गोगोई जोरहाट के उपायुक्त कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए थे।

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने लालुंगगांव में गोलियां चलाई। इसमें कुछ लोग कथित तौर पर घायल हो गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि प्रदर्शकारियों ने पुलिसर्किमयों पर पत्थरबाजी की और ईंटे फेंकी और पुलिस ने जब उन्हें शांत कराने की कोशिश की तो ये लोग वहां से नहीं हटे। अधिकारी ने गोलीबारी में घायल लोगों की संख्या नहीं बताई लेकिन प्रदर्शनकारियों का दावा है कि कम से कम चार लोग घायल हुए हैं। गुवाहाटी में प्रदर्शनकारी कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए इस विधेयक के विरोध में गुरुवार (12 दिसंबर) को सड़कों पर उतरे। गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट और तिनसुकिया में सेना के जवानों ने फ्लैगमार्च किया है। सेना ने एक बयान में कहा कि सेना के पांच कॉलम के लिए अनुरोध किया गया था और यह असम में तैनात हैं।

कांग्रेस ने नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने के बाद लोकसभा में गुरूवार को पूर्वोत्तर क्षेत्र में हिंसा भड़कने का दावा किया, जिस पर सरकार ने कहा कि उत्तर पूर्वी राज्यों में मुख्य विपक्षी दल हिंसा भड़का रहा है। कांग्रेस, द्रमुक और तृणमूल कांग्रेस ने इस मुद्दे पर सदन से वाकआउट किया। सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक संसद से पारित होने के बाद पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र में हिंसा फैल रही है। वहां सेना तैनात की गयी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CAB पर शिवसेना ने किया वॉकआउट तो झूम उठे बीजेपी सांसद, बोले- फिर से शुरू करो बातचीत, 2.5 साल के लिए दे दो सीएम पद
2 असम में बवाल! मोदी सरकार के मंत्री बोले- प्रदर्शकारियों ने तोड़ दी मेरे घर की बाउंड्री, चाचा की दुकान में लगा दी आग
3 हैदराबाद एनकाउंटर केस की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, CJI बोले- हम जांच के आदेश देंगे
IPL 2020 LIVE
X