ताज़ा खबर
 

“कुत्तों की तरह गोली मारी” बयान पर बंगाल BJP चीफ के खिलाफ FIR दर्ज, दिलीप घोष बोले- नहीं करता परवाह, अपने कमेंट पर कायम

West Bengal, BJP, Dilip Ghosh: पुलिस में शिकायतों पर दिलीप घोष ने कहा कि वह इसकी परवाह नहीं करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं शिकायतों की, या कौन क्या कह रहा है इसकी परवाह नहीं करता। मैं अपने बयान पर कायम हूं।’’

Author कोलकाता | Updated: January 15, 2020 9:51 AM
पश्चिम बंगाल भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष। (Express File Photo)

West Bengal, BJP, Dilip Ghosh: पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष के खिलाफ उनके बयान को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने दो प्राथमिकी दर्ज करायी है। एक मामला नदिया में और दूसरा उत्तरी 24 परगना जिले में दर्ज कराया गया है। घोष ने कहा था कि सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को ‘कुत्तों की तरह गोली मारी गई।’ हालांकि इस बीच घोष ने कहा कि वह अपने बयान पर कायम हैं और उन्हें किसी की बात की परवाह नहीं है।

बयान पर मामला दर्ज: तृणमूल कांग्रेस (TMC) के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री ज्योतिप्रियो मलिक ने मंगलवार को कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने घोष की विवादित टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ एक पुलिस शिकायत दर्ज कराई है। मलिक ने कहा, ‘‘आम जन डर के साये में रह रहे हैं। कुछ लोगों ने आशंका जताई है कि घोष उनकी हत्या कर सकते हैं या उन्हें गोली मार सकते हैं। इसलिए एक पुलिस शिकायत उत्तर 24 परगना जिले के हाबड़ा पुलिस थाने में दर्ज की गई है, जिसे प्राथमिकी के तौर पर लिया जा रहा है।’’

Hindi News Live Hindi Samachar 15 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

क्या बोले दिलीप घोष: पुलिस में शिकायतों पर घोष ने कहा कि वह इसकी परवाह नहीं करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं शिकायतों की, या कौन क्या कह रहा है इसकी परवाह नहीं करता। मैं अपने बयान पर कायम हूं।’’ दूसरी पुलिस शिकायत नदिया जिले के रानाघाट इलाके में तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने दर्ज कराई है। नदिया जिला पुलिस ने कहा, ‘‘हमें शिकायत प्राप्त हुई है। हम इस पर गौर कर रहे हैं।’’

सियासी बवाल जारी: गौरतलब है कि घोष ने नदिया जिले में रविवार को एक जनसभा में यह कह कर विवाद छेड़ दिया कि ‘सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को भाजपा शासित राज्यों में कुत्तों की तरह गोली मारी गई’। घोष के इस बयान की उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों और उनकी खुद की पार्टी के नेताओं ने आलोचना की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CAA पर UP में दंगा, कत्ल की कोशिश के केस होने लगे कम! 107 अरेस्ट, पर पुलिस को 19 आरोपी करने पड़े रिहा
2 हिमाचल BJP अध्यक्ष बोले- JNU मुफ्तखोरों का अड्डा है, ‘भगत सिंह’ रख दो यूनिवर्सिटी का नाम
3 J&K में ‘नेटबंदी’ से आजादी, ब्रॉडबैंड व 2जी इंटरनेट सेवा आंशिक रूप से बहाल
ये पढ़ा क्या?
X