ताज़ा खबर
 

डिबेट में नसीरुद्दीन शाह के बचाव में बोले भतीजे तो आगबबूला हुए फिल्मकार, ‘आपकी पढ़ाई-लिखाई गई गड्ढे में, यह बदतमीजी है’

यही नहीं, एंकर रोहित सरदाना ने भी बीच में शाह के भतीजे को दुरुस्त किया कि जो शब्द उन्होंने इस्तेमाल किया, वह प्रेमसूचक था? क्या वह प्रेम था? प्यार-मोहब्बत में आपको भी ऐसे ही बुला लेते हैं?

डिबेट के दौरान मेजर अली शाह अपने चाचा नसीरुद्दीन शाह का बचाव कर रहे थे। (फाइल फोटो)

देश के हालिया माहौल और मोदी सरकार की नीतियों पर बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह और अनुपम खेर में तकरार को लेकर एक टीवी डिबेट में गुरुवार को शाह के भतीजे मेजर अली शाह ने उनका बचाव किया। कहा कि नसीर साहब ने कुछ भी गलत (इस प्रकरण में) नहीं कहा है। यह खेर पर उनका नजरिया था…। साफ जाहिर हो रहा है कि अनुपम जी ने उनकी बात को दिल पर लिया है।

इसी पर, डिबेट में शामिल फिल्मकार अशोक पंडित कुछ देर बाद शाह के भतीजे पर आगबबूला हो उठे। मेजर अली शाह के लिए वह बोले, “यह पढ़े-लिखे हैं? इनकी पढ़ाई-लिखाई गई गड्ढे में…यह बदतमीजी है।”

यही नहीं, एंकर रोहित सरदाना ने भी बीच में शाह के भतीजे को दुरुस्त किया कि जो शब्द उन्होंने इस्तेमाल किया, वह प्रेमसूचक था? क्या वह प्रेम था? प्यार-मोहब्बत में आपको भी ऐसे ही बुला लेते हैं? यह मामला हिंदी चैनल आज तक की एक बहस से जुड़ा है। शो में ‘मोदी सरकार की नीतियों पर बंटा बॉलीवुड’ पर चर्चा हो रही थी।

इसी बीच, एंकर ने पंडित पूछा- क्या बॉलीवुड में आप लोग जूनियर्स से ऐसे ही बात करते हैं? फिल्मकार ने इस पर जवाब दिया, “शाह साहब, पुराने ऑफेंडर रहे हैं। उन्होंने देश के बड़ी नामी हस्तियों को गालियां दी हैं। मसलन विराट कोहली, दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन तक को उन्होंने नहीं छोड़ा। इनका ट्रैक रिकॉर्ड रहा है। एक लेखक ने कहा है कि नसीर को अचीवर पसंद नहीं आते हैं।”

बकौल अशोक पंडित, “खेर के खून पर आप लोग सवाल करते हैं। आपको शर्म आनी चाहिए। ये नसीरुद्दीन शाह के भतीजे कह रहे हैं…आप पढ़े लिखे हैं? ज्यादा अनुभवी है, आपकी पढ़ाई लिखाई गई गड्ढे में गई। ये अनुभव नहीं, बदतमीजी है।”

देखें, डिबेट में आगे और क्या हुआः

क्या है पूरा विवाद?: शाह ने हाल में एक इंटरव्यू में नागरिकता विवाद समेत कई मसलों पर अपनी राय बेबाकी से रखी। उसी दौरान उन्होंने चापलूसों का जिक्र करते हुए अनुपम का उदाहरण दिया। कहा था, “खेर क्लाउन (जोकर/मसखरे) हैं। और, उनकी बात कोई गंभीरता से नहीं लेता है। चापलूसी उनके खून में है और वह इसके लिए कुछ नहीं कर सकते।”

इसी के बाद खेर ने भी डेढ़ मिनट का वीडियो टि्वटर पर पोस्ट करते हुए शाह के लिए पैगाम छोड़ा। उन्होंने कहा- तारीफ के लिए शुक्रिया, पर मैं आपको सीरियस नहीं लेता हूं। मैंने आपके लिए कभी बुरा या गलत नहीं कहा। आपने पूरी जिंदगी कामयाबी मिलने के बाद भी निराशा में बिताई है।

बकौल खेर, “आप जब बड़े-बड़े लोगों की निंदा कर चुके हैं, तब यह मेरा बड़प्पन है कि आपने मेरी आलोचना है। बरसों से आप जिन पदार्थों का सेवन करते हैं, उनकी वजह से आपको यह पता ही नहीं लगता कि क्या सही है और क्या गलत। अगर आप अपने बयान से कुछ समय के लिए सुर्खियों में आते हैं, तब मैं ये खुशी आपको भेंट करता हूं। और, हां मेरे खून में हिंदुस्तान है। ये समझ लीजिए बस।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 BJP सांसद का दावा- CAA का समर्थन करने वाले हिंदुओं को बनाया ‘निशाना’, दूसरा कश्मीर बनने जा रहा केरल
2 सीएए पर विरोध के बीच बोले पीयूष गोयल- दुनिया की किसी भी जगह से ज्यादा भारत में सुरक्षित हैं मुस्लिम, बिजली देने से पहले रंग और धर्म नहीं पूछती मोदी सरकार
3 नसीरुद्दीन-अनुपम विवाद में कूदे सुषमा स्वराज के पति, बोले- शाह ने तो धर्म के बाहर शादी की; शशि थरूर का जवाब- क्या ये देशद्रोह है?
ये पढ़ा क्या?
X