ताज़ा खबर
 

CAA विवादः अखिल गोगोई और चंद्रशेखर आजाद की गिरफ्तारी को लेकर बरसे कन्हैया कुमार- बुजदिल और फरेबी है नरेंद्र मोदी सरकार

आरटीआई कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई और भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद की गिरफ्तारी की गई है जिसपर विपक्षी दल सरकार की कड़ी आलोचना कर रहे हैं।

CAA Controversy, CAA, CAB, NRA, NPR, Narendra Modi government, amit shah,CPI, kanhaiya kumar, Akhil Gogoi, Chandrashekhar Azad, bhim army, bheem armyCAA का हो रहा है जमकर विरोध। फोटो: Indian Express

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) नेता कन्हैया कुमार ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध कर रहे नेताओं को गिरफ्तार करने पर मोदी सरकार की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने सरकार को बुजदिल और फरेबी करार दिया है। सीपीआई नेता ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर कहा ‘CAA-NRC-NPR का विरोध करने के कारण इस ‘कायर और लायर’ सरकार ने अखिल गोगोई, चंद्रशेखर आजाद, सदफ जफर, दीपक कबीर और हजारों अन्य नागरिकों को झूठी धाराएं लगाकर गिरफ्तार किया है।’ उन्होंने ट्वीट में आगे कहा ‘सुनिए साहेब, दम है कितना दमन में तेरे, देख लिया है देखेंगे, जगह है कितनी जेल में तेरे, देख लिया है देखेंगे।’

आरटीआई कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई और भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद की गिरफ्तारी की गई है जिसपर विपक्षी दल सरकार की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। एनआईए की विशेष अदालत ने अखिल गोगोई को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वहीं दिल्ली की एक अदालत ने दरियागंज हिंसा मामले में गिरफ्तार चंद्रशेखर आजाद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज रखा है। वहीं दूसरी तरफ एक्ट्रेस सदफ जफर को गिरफ्तार किया गया है। CAA के विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के कारण पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया।

मालूम हो कि नेताओं और अभिनेताओं के अलावा पुलिस ने सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए कई लोगों को देशभर में गिरफ्तार किया है। संशोधित नागरिकता कानून के संसद में पारित होने के बाद से देश में इसका विरोध जारी है। विपक्षा का आरोप है कि सीएए के जरिए संविधान के आर्टिकल 14 का उल्लंघन होता है।

वहीं सत्ता पक्ष का कहना है यह पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में रह रहे हिंदू, सिख, पारसी, बौद्ध, इसाई और जैन जो कि प्रताड़ना सह रहे हैं उन्हें संरक्षण देगा। बहरहाल नागरिकों के बीच इस बात की भी चर्चा है कि इसके जरिए उनकी नागरिकता को खतरा है। यह भ्रम विशेषकर मुस्लिम समुदाय के बीच है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मुस्लिमों के घर नहीं जाते UP के मंत्री, हिंदू को लगती है गोली तो पहुंचते हैं’, असुद्दीन ओवैसी का वार; PM पर कही ये बात
2 BJP सांसद मनोज तिवारी ने लिखा PM मोदी को खत- नेहरू के जन्मदिन पर नहीं, इस दिन मनाया जाए बाल दिवस
3 सावधान! राजधानी में बड़े स्तर पर चल रहा था फर्जी नोटों का ‘खेल’, आप न हों शिकार इसलिए ऐसे पहचानें नकली करेंसी को
ये पढ़ा क्या?
X