ताज़ा खबर
 

डेढ़ साल तक मेरी रेकी करता रहा था बांग्लादेशी आतंकी- CAA को सही ठहराते हुए बोले कैलाश विजयवर्गीय

विजयवर्गीय ने कहा कि यहां उनके घर में नये कमरे के निर्माण कार्य के दौरान संदिग्ध बांग्लादेशी नागरिक मजदूर के रूप में काम कर रहे थे। उनके खान-पान का तरीका थोड़ा अजीब लगा, क्योंकि वे भोजन में केवल पोहा खा रहे थे।

Author इंदौर | Updated: January 24, 2020 10:06 AM
भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो)

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को सही ठहराते हुए सनसनीखेज दावा किया कि बांग्लादेश का एक आतंकवादी पिछले डेढ़ साल से उनकी “रेकी” (नजर रखना) कर रहा था। साथ ही उन्होंने कहा कि उनके घर के निर्माण कार्य में संदिग्ध बांग्लादेशी नागरिक मजदूर के रूप में काम कर रहे थे। विजयवर्गीय ने मध्य प्रदेश के इंदौर में एक सामाजिक संगठन के कार्यक्रम में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) की जमकर पैरवी करते हुए यह दावा किया।

भाजपा महासचिव ने अपने गृहनगर में “लोकतंत्र-संविधान-नागरिकता” विषय पर आयोजित परिसंवाद में कहा कि यहां उनके घर में नये कमरे के निर्माण कार्य के दौरान उन्हें छह-सात मजदूरों के खान-पान का तरीका थोड़ा अजीब लगा, क्योंकि वे भोजन में केवल पोहा (नाश्ते के रूप में खाया जाने वाला स्थानीय व्यंजन) खा रहे थे। विजयवर्गीय ने कहा कि इन मजदूरों और भवन निर्माण ठेकेदार के सुपरवाइजर से बातचीत के बाद उन्हें संदेह हुआ कि ये श्रमिक बांग्लादेश के रहने वाले हैं।

कार्यक्रम के बाद हालांकि, संवाददाताओं ने जब भाजपा महासचिव से इन संदिग्ध लोगों के बारे में सवाल किये, तो उन्होंने कहा, “मुझे शंका थी कि ये मजदूर बांग्लादेश के रहने वाले हैं। मुझे संदेह होने के दूसरे ही दिन उन्होंने मेरे घर काम करना बंद कर दिया था।” उन्होंने कहा, “मैंने पुलिस के सामने इस मामले में फिलहाल शिकायत दर्ज नहीं करायी है। मैंने तो केवल लोगों को सचेत करने के लिये उन मजदूरों का जिक्र किया था।”

विजयवर्गीय ने कार्यक्रम के दौरान अपने सम्बोधन में यह दावा भी किया कि बांग्लादेश का एक आतंकवादी पिछले डेढ़ साल से उनकी “रेकी” (नजर रखना) कर रहा था। उन्होंने कहा, “मैं जब भी बाहर निकलता हूं, तो छह-छह बंदूकधारी सुरक्षा कर्मी मेरे आगे-पीछे चलते हैं। यह देश में आखिर क्या हो रहा है? क्या बाहर के लोग देश में घुसकर इतना आतंक फैला देंगे?” विजयवर्गीय ने सीएए की वकालत करते हुए कहा, “भ्रम और अफवाहों के चक्कर में मत आइये। सीएए देश के हित में है। यह कानून भारत में वास्तविक शरणार्थियों को शरण देगा और उन घुसपैठियों की पहचान करेगा जो देश की आंतरिक सुरक्षा के लिये खतरा है।”

Next Stories
1 Mukesh Ambani के बंगले पर तैनात CRPF कमांडों की मौत, गलती से चल गई थी राइफल से गोली
2 गुजरात: बेटे को ईसाई बनाने के लिए हिन्दू मां पर केस, आठ साल बाद हुई कार्रवाई
3 सुभाष चंद्र बोस के पौत्र ने BJP को चेताया? कहा- CAA पर ऐसा चलता रहा तो पार्टी में बने रहने पर सोचना होगा
ये पढ़ा क्या?
X