scorecardresearch

India Today C Voter Survey: दस दिन में हुए दो सर्वे, एनडीए की 21 सीटें घटीं और यूपीए की इतनी ही बढ़ीं

पीएम मोदी 53 फीसदी वोटों के साथ प्रधानमंत्री पद के सबसे लोकप्रिय चेहरे के रूप में उभर रहे हैं। राहुल गांधी को 9 प्रतिशत, अरविंद केजरीवाल को 6 प्रतिशत और योगी आदित्यनाथ को 5 प्रतिशत लोग प्रधानमंत्री पद के चेहरे के रूप में देखते हैं।

India Today C Voter Survey: दस दिन में हुए दो सर्वे, एनडीए की 21 सीटें घटीं और यूपीए की इतनी ही बढ़ीं
पीएम मोदी और सोनिया गांधी (Source- Express File photo)

बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद राज्य की राजनीति में भारी उठापटक देखने को मिल रही है। वहीं, इस बीच अलग-अलग सर्वे में जनता की राय सामने निकलकर आ रही है। India Today C Voter ने पिछले दस दिन में दो सर्वे कराए, जिसके मुताबिक एनडीए की 21 सीटें घटीं और यूपीए की इतनी ही सीटें बढ़ीं हैं।

सर्वे के मुताबिक, अगर आज चुनाव हुए तो कुल 543 सीटों में से एनडीए को 286 सीटें, यूपीए को 146 सीटें और अन्य को 111 सीटें मिल सकती हैं। यानि कि अगर आज चुनाव हुए तो एक बार फिर एनडीए की सरकार बनेगी। इंडिया टुडे और सी-वोटर सर्वे के मुताबिक, एनडीए को 41.4 %, यूपीए को 28.1 प्रतिशत और अन्य को 30.6 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं।

यूपीए की सीटों में 21 की बढ़ोत्तरी: दस दिनों के भीतर हुए सर्वे में एक बड़ा बदलाव बिहार की राजनीति में हुए उठापटक के बाद देखने को मिला है। इससे पहले 1 अगस्त 2022 को हुए सर्वे के दौरान एनडीए को 307 सीटें, यूपीए को 125 सीटें और अन्य को 111 सीटें मिलने के अनुमान लगाए गए थे। यानि कि जहां अन्य की सीटों में कोई अंतर नहीं देखने को मिला है, वहीं नीतीश कुमार के महागठबंधन के साथ जाने के बाद यूपीए की सीटों में जहां 21 सीटों की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। दूसरी ओर एनडीए की सीटों में 21 सीटों की गिरावट देखने को मिल रही है।

सर्वे में सवाल रहा कि बिहार में मुख्यमंत्री की पहली पसंद कौन है? इस सवाल के जवाब में 43 फीसदी लोगों ने तेजस्वी यादव को बेहतर मुख्यमंत्री माना है। सर्वे के मुताबिक वर्तमान में नीतीश को सिर्फ 24 प्रतिशत लोग मुख्यमंत्री की पहली पसंद मान रहे हैं। वहीं अगर बीजेपी का कोई भी चेहरा मुख्यमंत्री बने तो उसे 19 फीसदी लोग अपनी पसंद बता रहे हैं।

NDA के वोट प्रतिशत में इजाफा: 2014 से अब तक के आंकड़ों के मुताबिक NDA के वोट प्रतिशत में साल-दर-साल इजाफा हो रहा है। 2014 में जहां एनडीए को 38% और यूपीए को 23% वोट मिल रहे थे। वहीं, सर्वे के मुताबिक 2019 में एनडीए का वोट प्रतिशत 45% और यूपीए का 27% था। 2020 में एनडीए का वोट प्रतिशत 42% और यूपीए का 27% था। साल 2021 में एनडीए का वोट प्रतिशत 40% और यूपीए का 28% था। वहीं, जनवरी 2022 में एनडीए का वोट प्रतिशत 41% और यूपीए का 27% था। हाल ही में हुए सर्वे के मुताबिक अगस्त 2022 में एनडीए का वोट प्रतिशत 41% और यूपीए का 28% था।

लोकसभा चुनाव 2014 में एनडीए को 336 और यूपीए को 59 सीटें मिली थी। वहीं, 2019 के लोकसभा चुनावों में एनडीए को 352 सीटें और यूपीए को 96 मिली थीं। सर्वे के मुताबिक, अगस्त 2020 में एनडीए को 316, यूपीए को 93 और अगस्त 2021 में एनडीए को 298 और यूपीए को 105 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था। अगस्त 2022 के सर्वे में एनडीए को 307 सीटें और यूपीए को 125 सीटें मिलने का अनुमान है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट