ताज़ा खबर
 

राहुल बजाज से हूं असहमत, उद्योगपतियों में नहीं है किसी प्रकार का खौफ- बोले संजीव गोयनका

सरकार की तारीफ करते हुए संजीव गोयनका ने कहा कि मोदी सरकार आम आदमी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है, इससे पहले अभी तक किसी सरकार ने ऐसा नहीं किया है।

Author नई दिल्ली | Published on: December 6, 2019 8:36 PM
उद्योगपति संजीव गोयनका ने मोदी सरकार को सराहा। (पीटीआई/फाइल फोटो)

आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप के चेयरमैन संजीव गोयनका ने अपने एक बयान में कहा है कि वह राहुल बजाज के उस बयान से सहमत नहीं हैं, जिसमें उन्होंने देश के उद्योगपतियों में डर का माहौल होने की बात कही थी। संजीव गोयनका ने कहा कि उद्योगपतियों में डर का कोई माहौल नहीं है। बता दें कि बीते दिनों बजाज ऑटो के चेयरमैन राहुल बजाज ने अपने एक बयान में कहा था कि देश के उद्योगपतियों में डर का माहौल है। खास बात ये है कि राहुल बजाज ने ये बातें केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सामने कहीं थी।

अब शुक्रवार को इंडिया टुडे ईस्ट कॉनक्लेव 2019 में संजीव गोयनका ने कहा कि “मैं राहुल बजाज के सहमत नहीं हूं। उनका अपना नजरिया है और मेरा अपना। मैं नहीं जानता कि उन्होंने ऐसा क्यों कहा लेकिन मुझे लगता है कि ऐसी कोई बात नहीं है।” निजी कंपनियों के निवेश में कमी पर संजीव गोयनका ने कहा कि ‘भारतीय इंडस्ट्री ने 4-5 साल पहले खूब निवेश किया था और हम सभी ने उम्मीद की थी कि जीडीपी 10 या 9 प्रतिशत रहेगी। लेकिन मांग उस हिसाब से पैदा नहीं हो सकी और इसके चलते हम क्षमता का पूरा उपयोग नहीं कर पा रहे हैं।’

सरकार की तारीफ करते हुए संजीव गोयनका ने कहा कि मोदी सरकार आम आदमी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है, इससे पहले अभी तक किसी सरकार ने ऐसा नहीं किया है। गोयनका ने कहा कि वह एनडीए सरकार में संरचनात्मक बदलाव की इच्छा और समर्पण देख रहे हैं। मशहूर उद्योगपति ने इलेक्टोरल बॉन्ड्स की तारीफ करते हुए कहा कि यह पुरानी इलेक्ट्रॉनिक फंडिंग के मुकाबले ज्यादा पारदर्शी प्रक्रिया है।

भाई हर्ष गोयनका ट्वीट कर साध चुके निशानाः गौरतलब है कि संजीव गोयनका जहां एनडीए सरकार की नीतियों की तारीफ कर रहे हैं। वहीं उनके भाई हर्ष गोयनका ने हाल ही में एक ट्वीट कर सरकार पर परोक्ष रुप से निशाना साधा था। हालांकि बाद में उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया था। हर्ष गोयनका ने गोरखनाथ पांडे की एक कविता का उल्लेख करते हुए लिखा कि “हालात देखते हुए कुछ पंक्तियां याद आती है…राजा बोला रात है, रानी बोली रात है, मंत्री बोला रात है, संतरी बोला रात है, सब बोले रात है, यह सुबह की बात है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सदन में बीजेपी सदस्य पर भड़के ओम बिरला, कड़े तेवर में चेताया- आप न मुझे बताएं कि किसे बुलाना है और किसे नहीं
2 VIDEO: संसद में पर्यावरण मंत्री का दावा, ‘फालतू में पैदा न करें ‘डर’, देश में प्रदूषण से कम नहीं होती है आयु’; ट्रोल
3 ‘नरेंद्र मोदी सरकार की शॉक थेरेपी की शिकार हुई इकनॉमी, इसलिए ऐसा हुआ हाल’, एक्सपर्ट का दावा
ये पढ़ा क्‍या!
X