ताज़ा खबर
 

Delhi Burari Case: कैसे बुराड़ी में हुई 11 लोगों की मौत

Burari Delhi Death Case News, Burari Murder Case News: सीसीटीवी फुटेज में कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं, जिसमें एक महिला, उसकी बेटी और दो बच्‍चे इस सामूहिक हत्‍या में इस्‍तेमाल किए गए स्‍टूल और तार लेकर आते दिख रहे हैं।

Delhi Burari Case Update: पहली तस्‍वीर- सीसीटीवी फुटेज में दिख रही महिला। दूसरी तस्‍वीर- घर के बाहर लगे 11 पाइप। (Photos: PTI)

Delhi Burari Case: दिल्‍ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्‍यों की लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैली हुई है। रविवार (1 जुलाई) को पुलिस ने यहां के एक महान से लाशें बरामद कर ‘सामूहिक हत्या’ का मामला दर्ज किया था। कुछ की आंखों पर पट्टियां बंधी थीं और वे फंदे पर लटके हुए थे। दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच मामले की जांच कर रही है और रोज नए खुलासे इस घटना के रहस्‍य को और बढ़ा रहे हैं। अब एक सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद रहस्‍य और गहरा गया है।

पुलिस को पहले घर की तलाशी के दौरान कुछ नोट बरामद हुए। पुलिस के अनुसार, ये नोट ‘पूरे परिवार द्वारा किए गए कुछ आध्यात्मिक और रहस्यमयी अनुष्ठान’ की ओर इशारा करते हैं। एक अधिकारी के अनुसार, “संयोग से, जिस तरह से मृतकों के मुंह, आंख और अन्य अंग बंधे हुए थे, इनकी नोट के साथ मजबूत समानता लगती है। मौत के साथ इन नोटों के संबंध का पता लगाने की जांच की जा रही है।”

Live Blog

Delhi Burari Case Updates: 

17:13 (IST) 05 Jul 2018
पुलिस को मिलीं 11 डायरियां

पुलिस को घर से 11 डायरियां मिली हैं जो 11 साल से मेंटेन की जा रही थीं। इनमें वैसा ही लिखा है, जिस प्रकार से यह कथित आत्‍महत्‍याएं हुईं। पुलिस के अनुसार डायरी में 'मोक्ष' पाने के उपाय लिखे हैं, जिनका कथित तौर पर परिवार ने पालन किया।

16:25 (IST) 05 Jul 2018
फोटो सोशल मीडिया पर हुई वायरल

बुराड़ी क्षेत्र के संतनगर में एक ही परिवार के 10 सदस्यों के फंदे से लटके और एक 77 वर्षीय महिला के शव के फर्श पर पड़े होने के दृश्य से पड़ोसियों में शोक की लहर पैदा हो गई और उसके बाद यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

16:01 (IST) 05 Jul 2018
तनाव में नहीं था मुख‍िया

एक पड़ोसी ने सुबह कहा कि यह सामूहिक आत्महत्या नहीं हो सकता और ललित व भवनेश काफी अच्छे व्यक्ति थे। पड़ोसी ने कहा, "मैंने पिछली रात भवनेश से बात की थी। वह बहुत खुश था और किसी भी तरह के तनाव में नहीं था।"

15:41 (IST) 05 Jul 2018
ऐसे खुला मामला

संयुक्त पुलिस आयुक्त राजेश खुराना ने कहा, "किराने की दुकान रोजाना सुबह छह बजे खुल जाती थी, लेकिन जब रविवार सुबह 7.30 बजे तक दुकान नहीं खुली तो, दूध खरीदने पहुंचे एक पड़ोसी ने इसके बारे छानबीन की तो पाया कि घर का मुख्य दरवाजा खुला हुआ था, जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी।" कुमार ने कहा, "पुलिस को सबसे आश्चर्य यह लगा कि घर में कोई तोड़-फोड़ नहीं की गई है और न ही कोई मंहगा सामान जैसे मोबाइल फोन चुराया गया है। महिलाओं के शरीर से सोने के आभूषण भी नहीं लिए गए हैं।"

15:24 (IST) 05 Jul 2018
तांत्रिक से हुई थी पूछताछ

रहस्यमयी मौत के मामले में पुलिस ने सोमवार को एक तांत्रिक और उसके सहयोगी को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की। पुलिस ने बताया कि उसे घटनास्थल बुराड़ी के संतनगर स्थित दो मंजिला मकान में पूजा स्थल के पास हाथ से लिखा नोट मिला है, जिससे मौत का रहस्यमय संबंध जाहिर होता है।

15:00 (IST) 05 Jul 2018
'मोक्ष' पाने के लिए किया ये सब?

पुलिस ने बताया कि परिवार ने मोक्ष प्राप्त करने के लिए तकरीबन हर निर्देश का पालन किया। उसमें यह भी बताया गया था कि परिवार का कोई सदस्य मोबाइल फोन का उपयोग नहीं करेगा। पुलिस को कुछ ही घंटों में घर से उनके मोबाइल फोन भी बरामद हुए। पड़ोसी विवेक कुमार ने बताया कि परिवार में पिछले कुछ सप्ताह से रोज सुबह-शाम दो घंटे अनुष्ठान चलता था।

14:22 (IST) 05 Jul 2018
क्‍या लिखा है नोट्स में?

नोट में कुछ निर्देशों का जिक्र है, जिसमें कहा गया है-"प्रत्येक व्यक्ति को सही तरीके से आंखों पर पट्टी बांध लेनी चाहिए, आंखों में सिर्फ परम स्थान दिखाई दे।" पत्र में लिखा है, "श्रद्धा के साथ सात दिनों तक लगातार बरगद के वृक्ष की पूजा करें। अगर कोई घर आए तो यह कार्य अगले दिन करें। इसके लिए गुरुवार या रविवार का दिन चुनें।" आगे लिखा है, "अगर बुजुर्ग महिला (नारायण देवी) खड़ी नहीं हो सकती हैं तो वह दूसरे कमरे में लेट सकती हैं। अनुष्ठान के लिए मद्धिम प्रकाश का उपयोग करें। रात 12 बजे से एक बजे के बीच अनुष्ठान करें, ताकि कोई तुम्हें बाधा न पहुंचाए। जब तुम सब उस दौरान फांसी पर लटक जाओगे तो भगवान अचानक प्रकट होंगे और उसी क्षण तुम्हें बचा लेंगे।"

14:11 (IST) 05 Jul 2018
CCTV फुटेज में दिखी महिला और बच्‍चे

Photo: PTI

14:04 (IST) 05 Jul 2018
एक ही परिवार के 11 सदस्‍यों की मौत

मृतकों की पहचान नारायणी देवी(77), उसके दो बेटों भवनेश (50) और ललित(45), उसकी बहुएं सविता(48) और टीना(42), उसकी बेटी प्रतिभा(57) के साथ ही प्रियंका(33), नीतू(25), मोनू(23) ध्रुव(15) और शिवम(15) के रूप में हुई है। परिवार राजस्थान का रहने वाला था।