ताज़ा खबर
 

बुलंदशहर हिंसाः एक्टर नसीरुद्दीन शाह बोले- जहर फैल चुका है, गाय की कीमत जान से ज्यादा; मेरी औलादों को भीड़ घेरेगी तब क्या होगा

शाह ने ये बातें एक वीडियो संदेश में कहीं, जिसे 'कारवान-ए-मोहब्बत इंडिया' यूट्यूब चैनल ने सोमवार (17 दिसंबर) को जारी किया है।

Bulandshahr Violence, Naseeruddin Shah, Bollywood Actor, Poison, Cow, Humans, Mob Lynching, Children, Tension, Anger, National, News, Hindi Newsबॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह। (एक्सप्रेस फोटोः अमित चक्रवर्ती)

बुलंदशहर हिंसा पर बॉलीवुड के जाने-माने कलाकार नसीरुद्दीन शाह ने कहा है कि देश में जहर फैल चुका है। हालात यह हैं कि गाय की कीमत जान से ज्यादा हो चली है। गुस्सा आता है और फिक्र भी होती है कि जब मेरी औलाद को भीड़ घेर लेगी तो वे क्या जवाब देंगे। शाह ने ये बातें एक वीडियो संदेश में कहीं, जिसे ‘कारवान-ए-मोहब्बत इंडिया’ यूट्यूब चैनल ने सोमवार (17 दिसंबर) को जारी किया है।

दो मिनट 10 सेकेंड की क्लिप में वह बोले, “यह जहर फैल चुका है। इस जिन्न को दोबारा बोतल में बंद करना बड़ा मुश्किल है। कानून हाथ में लेने की खुली छूट मिल गई है। कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि गाय की मौत को पुलिस अफसर की मौत की तुलना में अधिक तवज्जो दी जा रही है।” वीडियो में देखें और क्या बोले शाहः

बकौल शाह, “मुझे फिक्र होती है, अपनी औलाद के बारे में सोचकर, क्योंकि उनका मजहब ही नहीं। इसकी तालीम मुझे और मेरी बीवी को मिली थी, लेकिन हमने बच्चों को यह नहीं दी। उन्हें हमने अच्छाई-बुराई के बारे में सिखाया। कुरान शरीफ की एक-दो आयतें याद कराई। कल को बच्चों को कहीं भीड़ ने घेर लिया कि तुम हिंदू हो या मुसलमान हो, तो उनके पास तो कोई जवाब ही नहीं होगा। इसी चीज की फिक्र होती है, क्योंकि जल्द हालात सुधरते नहीं दिखते।”

वीडियो में वह आगे बोले, “इन बातों से मुझे डर नहीं बल्कि गुस्सा आता है। मुझे लगता है कि हर सही सोच रखने वाले इंसान को गुस्सा आना चाहिए, क्योंकि यह हमारा घर है। हमें यहां से कौन निकाल सकता है।”

बता दें कि बुलंदशहर के स्याना गांव में तीन दिसंबर को हिंसा भड़क उठी थी। कारण- गोकशी की अफवाह फैलना था। भीड़ ने इसी शक में गांव में तोड़फोड़, आगजनी और फायरिंग की थी। घटना के दौरान पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह समेत दो लोगों की गोली लगने से जान चली गई थी। मामले की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) को सौंपी गई थी, जिसके बाद चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

वहीं, 27 लोगों के नाम एफआईआर में शामिल किए गए। घटना के आरोपियों के तार हिंदू संगठनों से भी जोड़े गए थे। बुधवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर कहा था कि वह शरारती तत्वो की राजनीतिक साजिश थी, जिसे उनकी सरकार ने नाकाम कर दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अब अम‍ित शाह को अध्‍यक्ष पद से हटाने के ल‍िए आरएसएस को ल‍िखी च‍िट्ठी, बीजेपी ने हल्‍के में ल‍िया मामला, कांग्रेस ने साधा न‍िशाना
2 Bank Holidays in December 2018: दिसंबर में ये 5 दिन बंद रहेंगे बैंक, जानें तारीखें और वजह
3 मौन नहीं थे मनमोहन सिंह? नरेंद्र मोदी से 15 बार ज्यादा दिए प्रेस के सवालों का जवाब!
ये पढ़ा क्या?
X