ताज़ा खबर
 

बुलंदशहर हिंसा: ‘मारो-मारो, इसकी बंदूक निकालो’, इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के आखिर खौफनाक पल

घटना के आखिरी पल वाले इस वीडियों में भीड़ चिल्लाती है, 'गोली लग गई' और सुमित की छाती से खून निकलता दिखाई दे रहा है। इस दौरान भीड़ इंस्पेक्टर सुबोध को टारगेट करती है और मारने के लिए दौड़ती है। भीड़ इस्पेक्टर को खेत में पकड़ लेती है और उन्हें पीटती है। वीडियो में 'मारो, इसकी बदूंक निकालो' की आवाजें सुनी जा सकती है।

बुलंदशहर के स्याना में पुलिस पर भीड़ ने हमला बोला दिया. (फोटो सोर्स: एक्सप्रेस आर्काइव)

बुलंदरशहर के स्याना में हुई हिंसा के आखिरी पल बेहद खौफनाक थे। हिंसा के आखिरी पलों का एक वीडियो सामने आया है। जिसमें उग्र भीड़ को पुलिस पर हमला बोलते देखा जा सकता है। वीडियो के मुताबिक अपने साथी सुमित को गोली लगने के बाद भीड़ पुलिस वालों पर टूट पड़ती है। इस दौरान ‘मारो-मारो…’ की आवाज सुनी जा सकती है। भीड़ को पुलिस इस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को टारगेट बनाते हुए भी देखा जा सकता है। ‘इसी ने मारा है। मारो इसे’ यह कहते देखा जा सकता है।

वीडियो में सुमित को भी पत्थर मारते देखा जा सकता है। इस दौरान सुमित को गोली लगने के बाद भीड़ बेकाबू होकर पुलिस इंस्पेक्टर पर हमला बोल देती है। घटना के आखिरी पल वाले इस वीडियों में भीड़ चिल्लाती है, ‘गोली लग गई’ और सुमित की छाती से खून निकलता दिखाई दे रहा है। इसी दौरान भीड़ इंस्पेक्टर सुबोध को टारगेट करती है और मारने के लिए दौड़ा लेती है। भीड़ इस्पेक्टर को खेत में पकड़ लेती है और उन्हें पीटती है। इंस्पेक्टर बिल्कुल निढाल दिखाई दे रहे हैं। इसी दौरान ‘मारो, इसकी बदूंक निकालो’ की आवाजें भी सुनी जा सकती है।

वीडियो में यह दृश्य बेहद ही डरावना है। इंस्पेक्टर के ड्राइव के मुताबिक उन्हें भीड़ ने गोली मार दी। यह घटना उस वक्त हुई जब वह जख्मी हालत में उन्हें अस्पताल ले जा रहा था। तभी भीड़ ने हमला कर दिया।

सबसे बड़ी बात सुमित का हिंसक भीड़ के साथ खड़ा होना है। क्योंकि, उसके परिवार ने उसे भीड़ में शामिल नहीं होने की बात कही है। उनका दावा है कि सुमित हिंसक भीड़ का हिस्सा नहीं था। पुलिस की तरफ से भी इस संबंध में कोई बयान नहीं आया है। जबकि, उसे भीड़ शामिल होकर पुलिस वालों पर पत्थर मारते देखा जा सकता है।

आरोपों के मुताबिक स्याना में गोवंश का अवशेष मिलने के बाद बजरंग दल से संबंध रखने वाले योगेश राज ने भीड़ को भड़काया। योगेश राज ने इस संबंध में एक शिकायत थाने में भी दर्ज कराई थी। योगेश अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App