ताज़ा खबर
 

Budget 2016: जेटली बोले- सरकार का फोकस ग्रामीण इलाकों पर, मिडिल क्‍लास को सब्सिडी नहीं, सर्विस चाहिए

जेटली टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव नहीं करने के बारे में कहा, 'आर्थिक सुधारों का मतलब सिर्फ टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव करना नहीं है। अगर करदाता टैक्‍स देना बंद कर देंगे, तो यह देश रुक जाएगा। टैक्‍सपेयर्स को छूट अवश्‍य मिलनी चाहिए, साथ ही कर का दायरा भी।'

Author नई दिल्‍ली | February 29, 2016 7:49 PM
29 फरवरी की सुबह जब अरुण जेटली नॉर्थ ब्‍लॉक से बजट पेश करने के लिए निकले तब वह बड़े ही गंभीर दिख रहे थे।

वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि बजट 2016-17 का मकसद आर्थिक सुधारों को आगे ले जाते हुए देश के समग्र विकास को बढ़ावा देना है। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने बजट में ग्रामीण इलाकों में आधारभूत ढांचे और आमदनी पर विशेष ध्‍यान दिया है। हमारी कोशिश ग्रामीण इलाकों में रोजगार पैदा करने की है, जिससे कि ग्रामीणों के पास पैसा कमाने के एक से अधिक विकल्‍प रहें। टैक्‍स स्‍लैब में कटौती के सवाल पर वित्‍त मंत्री ने कहा कि मिडिल क्‍लास को सब्सिडी नहीं बल्कि सर्विस चाहिए।

Read Also: Budget 2016: पढ़ें, क्‍या-क्‍या हुआ महंगा

जेटली टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव नहीं करने के बारे में कहा, ‘आर्थिक सुधारों का मतलब सिर्फ टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव करना नहीं है। अगर करदाता टैक्‍स देना बंद कर देंगे, तो यह देश रुक जाएगा। टैक्‍सपेयर्स को छूट अवश्‍य मिलनी चाहिए, साथ ही कर का दायरा भी।’  वित्‍त मंत्री ने कहा कि पिछले 21 महीने में सरकार ने जो कदम उठाए हैं, वे अपने आप में बहुत बड़े हैं। यही कारण है कि वैश्विक मंदी के इस दौर में भी भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। संसद में अटके पड़े GST बिल के बारे में अरुण जेटली ने कहा कि सरकार अपनी ओर से प्रयास कर रही है और उम्‍मीद करती है कि इस प्रकार के बड़े आर्थिक सुधारों में कांग्रेस पार्टी उनकी मदद करेगी।

Read Also: Budget 2016: पहले घर पर ब्‍याज में छूट, सस्‍ती दवा समेत वित्‍त मंत्री ने दी हैं ये 15 सौगात

Read Also: Budget 2016: वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने INCOME TAX से जुड़ी कीं ये घोषणाएं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App