ताज़ा खबर
 

Budget 2020 Speech: निर्मला सीतारमण ने तोड़ा लंबे बजट भाषण का 17 साल पुराना रिकॉर्ड, नॉन स्टॉप बोलीं 2 घंटे 40 मिनट!

Budget 2020 Nirmala Sitaraman Speech Highlights and Important Points in Hindi: निर्मला सीतारमण ने 2 घंटे और 40 मिनट लंबा भाषण दिया। इससे पहले पूर्व वित्त मंत्री जसवंत सिंह के समय के हिसाब से सबसे लंबे भाषण का रिकॉर्ड था।

budget income tax live, budget income tax, budget income tax 2020, budget income tax 2020-20, budget income tax slab, budget income tax statement, budget income tax changes, budget income tax slab 2018-20, budget income tax 2018 19, budget income tax calculator, budget income protection, budget 2020 income tax changes, budget 2020 income tax slab, budget 2020 income tax rebate, budget 2020 income tax pdf, budget 2020 income tax rates, budget 2020 income tax for senior citizens, budget 2020 income tax india, budget 2020 income taxBudget 2020: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2020-21 का बजट पेश करते हुए मिडिल क्लास को बड़ी राहत दी है। (फोटोः एएनआई)

Budget 2020 Nirmala Sitaraman Speech Highlights: केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को 2020-21 का बजट पेश किया। इस दौरान केन्द्रीय वित्त मंत्री ने 17 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ते हुए समय के हिसाब से सबसे लंबे भाषण दिया। निर्मला सीतारमण ने 2 घंटे और 40 मिनट लंबा भाषण दिया। इससे पहले पूर्व वित्त मंत्री जसवंत सिंह के समय के हिसाब से सबसे लंबे भाषण का रिकॉर्ड था। जसवंत सिंह ने 2 घंटे 13 मिनट का भाषण दिया था।

निर्मला सीतारमण और जसवंत सिंह के बाद सबसे लंबा भाषण अरुण जेटली ने 2 घंटे और 10 मिनट और साल 2019 में निर्मला सीतारमण द्वारा दिए गए भाषण 2 घंटे 5 मिनट का नंबर आता है।

निर्मला सीतारमण लगातार दूसरी बार बजट पेश करने वाली पहली महिला वित्त मंत्री बन गई हैं। इससे पहले इंदिरा गांधी भी लगातार दो बार बजट पेश कर चुकी हैं, लेकिन उनके पास वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार था।

समय के हिसाब से निर्मला सीतारमण का भाषण भले ही सबसे लंबा हो, लेकिन शब्दों के मामले में सबसे लंबे भाषण का रिकॉर्ड पूर्व पीएम और वित्त मंत्री रहे डॉक्टर मनमोहन सिंह के नाम है। मनमोहन सिंह ने साल 1991 में बजट पेश करते हुए 18,650 शब्दों का भाषण दिया था।

इस मामले में दूसरे नंबर पर अरुण जेटली का नाम आता है। तीसरे, चौथे और पांचवें नंबर पर भी अरुण जेटली का ही नाम आता है। सबसे छोटे भाषण का रिकॉर्ड हीरूभाई पटेल के नाम है, जिन्होंने साल 1977 में 800 शब्दों का सबसे छोटा भाषण दिया था।

बजट 2020 से जुड़े लाइव अपडेट्स, हाईलाइट्स, लाइव स्‍ट्रीम‍िंग न्‍यूज, इनकम टैक्‍स स्‍लैब अपडेट पढ़ें।

सबसे ज्यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड मोरारजी देसाई के नाम पर है, जिन्होंने सर्वाधिक 10 बार बजट पेश किया। मोरारजी देसाई के बाद पी. चिदंबरम का नाम आता है, जिन्होंने 9 बार बजट पेश किया।

मोरारजी देसाई ने दो बार साल 1964 में और साल 1968 में अपने जन्मदिन के अवसर पर बजट पेश किया था। साल 1973-74 के बजट को भारत का ब्लैक बजट कहा है, क्योंकि उस दौरान बजट घाटा 550 करोड़ रुपए था।

 

आर वेंकटरमण और प्रणव मुखर्जी भारत के दो ऐसे वित्त मंत्री रहे, जिन्होंने बाद में भारत के राष्ट्रपति के रूप में भी काम किया है। भारत में पहली बार कॉरपोरेट टैक्स की शुरूआत 1987 के बजट से राजीव गांधी की सरकार में की गई थी।

भारत में 7 अप्रैल, 1860 को ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा ब्रिटिश क्राउन के अन्तर्गत पहला बजट पेश किया गया था। बजट पेश करने वाले पहले वित्त मंत्री जेम्स विल्सन थे। आजाद भारत में पहला बजट वित्त मंत्री ‘आर.शन्मुखम चेट्टी’ द्वारा 26 नवंबर, 1947 को पेश किया गया था। स्वतंत्र भारत का पहला बजट केवल 7 माह के लिए ही पेश किया गया था।

budget income tax live, budget income tax, budget income tax 2020, budget income tax 2020-20, budget income tax slab, budget income tax statement, budget income tax changes, budget income tax slab 2018-20, budget income tax 2018 19, budget income tax calculator, budget income protection, budget 2020 income tax changes, budget 2020 income tax slab, budget 2020 income tax rebate, budget 2020 income tax pdf, budget 2020 income tax rates, budget 2020 income tax for senior citizens, budget 2020 income tax india, budget 2020 income tax, Budget 2020-2021, Budget, Modi Government, Nirmala Sitharaman, Nirmala Sitharaman Budget Speech, बजट, बजट 2020-21, निर्मला सीतारमण, मोदी सरकार, बजट भाषण Budget 2020: मोदी सरकार ने 2020-21 के बजट में मिडिल क्लास को बड़ी राहत दी है। इनकम टैक्स का स्लैब बदल दिया है।

साल 2000 तक शाम 5 बजे बजट पेश किया जाता था, लेकिन वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने 2001 में बजट पेश करने के समय में बदलाव कर इसे सुबह 11 बजे कर दिया था। उसके बाद से हर बार सुबह 11 बजे ही बजट पेश किया जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बजट भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का ऐलान- Aadhaar से मिलेगा झटपट PAN
2 Budget 2020: घर खरीदने वालों को बजट में नहीं मिला खास फायदा, सिर्फ लोन के ब्याज की रकम पर मिलेगी अतिरिक्त टैक्स छूट
3 Kerala Karunya Lottery KR-433 Today Result: 1 करोड़ रुपए तक के विजेताओं की सूची, यहां देखें परिणाम
IPL 2020
X