ताज़ा खबर
 

Budget 2020: अरुण जेटली को सलाम करते निर्मला सीतारमण ने शुरू किया बजट भाषण, बोलीं- गांवों में उपलब्ध कराएंगे रोजगार

Budget 2020: वित्त मंत्री ने कहा कि पशुपालन और मछली पालन पर भी ध्यान दिए जाने की जरूरत है। सरकार 6.11 करोड़ किसानों के लिए बीमा योजना लेकर आयी है। किसानों की आय दोगुना करना हमारा लक्ष्य है।

nirmala sitharamanसंसद में बोलतीं केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण। (इमेज सोर्स-एएनआई)

Budget 2020: केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद भवन में बजट भाषण शुरू कर दिया है। इस दौरान केन्द्रीय वित्त मंत्री ने अपने भाषण की शुरूआत में पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को याद करते हुए उन्हें सलाम किया। निर्मला सीतारमण ने कहा कि उनकी सरकार ग्रामीण विकास पर ध्यान देगी। जिसके तहत गांवों में रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे।

इस दौरान केन्द्रीय वित्त मंत्री ने मोदी सरकार द्वारा किसानों के कल्याण के लिए संचालित की जा रहीं योजनाओं का उल्लेख किया। वित्त मंत्री ने कहा कि पशुपालन और मछली पालन पर भी ध्यान दिए जाने की जरूरत है। सरकार 6.11 करोड़ किसानों के लिए बीमा योजना लेकर आयी है। किसानों की आय दोगुना करना हमारा लक्ष्य है।

केन्दीय वित्त मंत्री ने कहा कि ‘मैं दूरदर्शी नेता स्वर्गीय अरूण जेटली को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करती हूं, जिनके नेतृत्व में जीएसटी लागू किया गया। देश के संरचनात्मक सुधारों में जीएसटी सबसे ऐतिहासिक रहा है। जीएसटी से देश आर्थिक रुप से एक हुआ है।’

BUDGET SLAB BUDGET SLAB

जीएसटी से ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक सेक्टर में सुधार हुआ है, इंस्पेक्टर राज खत्म हुआ है। जीएसटी से अति सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों को फायदा हुआ है। उपभोक्ताओं को जीएसटी से एक लाख करोड़ रुपए सालाना का फायदा हुआ है।

बजट 2020 से जुड़े लाइव अपडेट्स, हाईलाइट्स, लाइव स्‍ट्रीम‍िंग न्‍यूज, इनकम टैक्‍स स्‍लैब अपडेट और संपूर्ण कवरेज पढ़ें।

वित्त मंत्री ने जानकारी दी कि केन्द्र सरकार का कर्ज मार्च 2014 में 52.2 प्रतिशत से घटकर मार्च 2019 में 48.7 प्रतिशत पर आ गया है। अपने भाषण के दौरान निर्मला सीतारमण ने कश्मीर की एक कविता का भी उल्लेख किया, जिसका हिंदी रूपांतरण ये है कि ‘हमारा वतन खिलते हुए शालीमार बाग जैसा, हमारा वतन डल झील में खिलते हुए कमल जैसा, नौजवानों के गरम खून जैसा, मेरा वतन तेरा वतन, हमारा वतन, दुनिया का सबसे प्यारा वतन।’

सीतारमण ने कहा कि पानी की कमी वाले 100 जिलों के लिए इस बजट में कई प्रावधान किए गए हैं। वहीं कृषि ऋण के लक्ष्य को बढ़ाकर 15 लाख करोड़ रुपए कर दिया गया है। स्वच्छ भारत योजना के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 12,300 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

ग्रामीण युवाओं के बीच मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए ‘सागर मित्र’ बनाए जाएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बजट से पहले सुब्रमण्यम स्वामी का तंज- चार साल ही बचे हैं, 18.6% चाहिए सालाना GDP ग्रोथ, असंभव!
2 शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के सामने झुकी केंद्र सरकार? रविशंकर प्रसाद बोले- CAA पर दूर करेंगे कन्फ्यूजन, पर रखी ये शर्त
3 SC में केंद्र सरकार से भिड़ेगा चुनाव आयोग, इलेक्टरॉल बॉन्ड का करेगा विरोध, चंदे का स्रोत जानने से किया था मना
IPL 2020
X