ताज़ा खबर
 

Budget 2018 Parliament Session: राष्‍ट्रपति के अभिभाषण के बाद लोकसभा में पेश हुआ आर्थिक सर्वे, GDP 7-7.5 फीसदी रहने का अनुमान

Budget 2018 Parliament Session(बजट सत्र 2018): राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने बजट भाषण में कहा, 'केन्द्र और राज्य सरकारों के नियमित प्रयासों के कारण नक्सली, माओवादी घटनाओं में कमी आ रही है। देश की आंतरिक सुरक्षा में उल्लेखनीय सुधार हुआ है।'

Budget 2018 Parliament Session: बजट सेशन, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो)

Budget 2018 Parliament Session: संसद का बजट सत्र सोमवार (29 जनवरी, 2018) से शुरू हुआ। पहले दिन राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के बाद लोकसभा में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने आर्थिक सर्वे 2018-19 पेश किया। राष्ट्रपति के तौर पर पहला बजट भाषण देते हुए कोविंद ने कहा कि उनकी सरकार किसानों के विकास के लिए लगातार काम कर रही है। आज से संसद का बजट सत्र शुरू हो रहा है और 1 फरवरी को संसद में बजट पेश किया जाना है। बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ होती है। कोविंद ने अपने संबोधन में कहा, ‘किसानों का ऊपर उठाना मेरी सरकार की प्राथमिकता है। मेरी सरकार साल 2022 तक किसानों की आय को दुगुना करने का लक्ष्य रखे हुई है। दशकों से पड़ी सिंचाई योजनाओं को भी पूरा किया जा रहा है। किसानों के हित में लगातार काम किया जा रहा है। किसनों की उपज बाजारों तक पहुंचने से पहले क्षतिग्रस्त ना हो, इसके लिए भी काम किया जा रहा है।’

  राष्ट्रपति ने कहा कि राष्ट्र का निर्माण लगातार और बिना रुके चलने वाली प्रक्रिया है। उन्होंने कहा, ‘देश के निर्माण में हर व्यक्ति की अपनी-अपनी भूमिका है। हर कोई अपना कर्तव्य निभा रहा है। राष्ट्र निर्माण का लक्ष्य पूरा हो, यही हम सब का कर्तव्य है।’

 ‘मेरी सरकार का प्रयास जनभागीदारी द्वारा जनकल्याण करने का है। मेरी सरकार सभी से बात करके लोगों के सुझाव को नीतियों में शामिल कर रही है।’

 ‘वैश्विक आर्थिक विकास दर के धीमे होने के बावजूद भारत की विकास दर प्रभावशाली रही। तीन वर्षों में मुद्रास्फीति की दर, करंट अकाउंट डेफिसिट और फिस्कल डेफिसिट औसतन कम हुए हैं।’

 ‘विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों की सुरक्षा के लिए भी मेरी सरकार लगातार काम कर रही है। विदेश में रहने वाले हर एक भारतीय को विश्वास है कि अगर वह कभी भी संकट में पड़ेंगे तो उनकी सरकार उनकी मदद करेगी। साल 2014 के बाद से विदेश में संकट में फंसे करीब 90,000 भारतीयों को सुरक्षित वापस लाया गया है।’

  राष्ट्रपति ने आतंकवाद के मुद्दे पर भी बात की। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के अंदर होने वाली आतंकी घटनाएं सीधे-सीधे सीमा पार से होने वाली घुसपैठ से जुड़ी हुई हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे सैनिक और जम्मू कश्मीर पुलिस तालमेल के साथ अच्छे से काम कर रहे हैं।’

  ‘केन्द्र और राज्य सरकारों के नियमित प्रयासों के कारण नक्सली, माओवादी घटनाओं में कमी आ रही है। देश की आंतरिक सुरक्षा में उल्लेखनीय सुधार हुआ है।’

  ‘हर क्षेत्र तक विकास पहुंच सके इसके लिए मेरी सरकार उत्तर-पूर्व के लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए संवेदनशीलता के साथ कार्य कर रही है। पिछले तीन सालों में मेरी सरकार ने पूर्वोत्तर राज्यों में विद्युत प्रसारण एवं वितरण नेटवर्क सुदृढ़ करने के लिए सरकार ने 10,000 करोड़ रुपए की योजना स्वीकृत की है।’

  ‘लोग हवाई यात्रा का लाभ उठा सकें, इसके लिए भी मेरी सरकार लगातार काम कर रही है। मेरी सरकार सस्ती हवाई यात्रा के लिए उड़ान योजना लेकर आई।’

  ‘मेरी सरकार ने ‘उड़ान’ योजना के मात्र 15 महीनों में 56 हवाई अड्डों और 31 हेलीपैडों को जोड़ने के लिए कार्य शुरू किया। अब तक 16 ऐसे हवाई अड्डों से उड़ानें शुरू भी हो चुकी हैं।’

  ‘देश के संतुलित विकास के लिए डिजिटल कनेक्टिविटी की बहुत आवश्यकता है। डिजिटल लेन-देन के लिए मेरी सरकार लगातार काम कर रही है। इसके लिए ‘भीम App’ बड़ी भूमिका निभा रहा है। हाल ही में ‘उमंग App’ लॉन्च किया गया, जिसके द्वारा 100 से ज़्यादा जनसुविधाओं को मोबाइल पर उपलब्ध कराया गया है।’

 डिजिटल इंडिया पर बात करते हुए कोविंद ने कहा, ‘मेरी सरकार इस दिशा में लगातार काम कर रही है। डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए मेरी सरकार लगातार काम कर रही है। ‘प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान’ के अंतर्गत मेरी सरकार विश्व का सबसे बड़ा डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम चला रही है।’

  ‘युवाओं के उज्ज्वल भविष्य के लिए सक्रिय मेरी सरकार देश में 20 ‘इंस्टीट्यूट्स ऑफ एमिनेन्स’ बनाने पर काम कर रही है। इस मिशन के तहत चुने हुए शिक्षण संस्थानों को 10,000 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी।’

  ‘मेरी सरकार ने गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को स्वास्थ्य की बेहतर और सस्ती सुविधा के लिए नई ‘राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति’ बनाई है। ‘प्रधानमंत्री जन औषधि’ केन्द्रों के माध्यम से गरीबों को 800 तरह की दवाइयां सस्ती दरों पर दी जा रही हैं। इन केन्द्रों की संख्या 3,000 के पार पहुंच चुकी है।’

  रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘पिछले साढ़े तीन वर्षों में शहरी और ग्रामीण इलाकों में 93 लाख से अधिक घरों का निर्माण किया गया है। ‘प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी’ के अंतर्गत गरीबों को घर बनाने के लिए ब्याज दर में 6 प्रतिशत की राहत दी जा रही है।’

 राष्ट्रपति ने कहा, ‘मेरी सरकार देश में आदिवासी स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों के संग्रहालयों की स्थापना कर रही है। झारखंड, एमपी और मणिपुर जैसे राज्यों में ऐसे संग्रहालयों का निर्माण किया जा रहा है।’

 ‘मेरी सरकार सबका साथ सबका विकास चाहती है। मेरी सरकार का उद्देश्य है कि देश के हर व्यक्ति का विकास हो। समाज के प्रत्येक कमजोर व्यक्ति का उद्धान मेरी सरकार की प्राथमिकता है। 82 फीसदी से ज्यादा गांव मुख्य सड़कों से जोड़े जा चुके हैं। आगे भी गांवों को सड़कों से जोड़ने का काम किया जाएगा।’

  राष्ट्रपति ने कहा, ‘बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए भी मेरी सरकार प्रतिब्ध है। अटल पेंशन योजना के तहत मेरी सरकार बुजुर्गों के हित में काम कर रही है।’ कोविंद ने कहा, ‘यह हमारा फर्ज है कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर यानी 2019 तक देश को पूरी तरह से स्वच्छ किया जाए।’

  उन्होंने कहा, ‘शौचालय निर्माण देश के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है। पहले महिलाओं को चूल्हे में खाना बनाना पड़ता था, जिसके कारण वह कई बीमारियों का शिकार हो जाती थीं। इसलिए हमने उज्जवला योजना से महिलाओं को बराबरी का मौका दिया।’

  राष्ट्रपति बनने के बाद कोविंद का यह पहला बजट भाषण है। राष्ट्रपति के भाषण के साथ ही संसद के बजट सत्र की शुरुआत होगी और 1 फरवरी को संसद में बजट पेश किया जाएगा। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बजट सत्र में शामिल होने के लिए संसद पहुंच चुके हैं। उन्होंने यहां संसद के अंदर जाने से पहले मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि सपनों को पूरा करने वाला बजट लाया जाएगा।

  पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि यह बजट सत्र बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, ‘पूरा विश्व इस वक्त भारत की ओर नजर रखे हुए है। यह बजट भारत के विकास को और गति देगा और लोगों के सपनों को भी पूरा करेगा। हमें ग्रामीण भारत, किसान, दलित और आदिवासी समुदायों के हित के लिए काम करना है।’ इसके अलावा पीएम मोदी ने सभी पार्टियों से अपील की है कि तीन तलाक पर बिल पास करने में सहयोग दें। उन्होंने कहा, ‘हमें मुस्लिम महिलाओं के हित में तीन तलाक के बिल को पास करना होगा।’

 विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि यह चुनावी बजट है। कांग्रेस ने कहा है कि बीजेपी जल्द चुनाव करना चाहती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राष्ट्रपति से खुश नहीं हैं भाजपा के कुछ नेता, ये है वजह
2 बीजेपी सांसद की चिट्ठी- देश में बढ़ रही असमानता, प्राइवेट सेक्टर से भी ज्यादा बढ़ी सांसदों की तनख्वाह
3 कासगंज: ससुराल आया था अकरम, रास्ता पूछा तो दाढ़ी देख टूट पड़े दंगाई, छीन ली आंख की रोशनी
ये पढ़ा क्या?
X