ताज़ा खबर
 

Budget 2016: पहले घर पर ब्‍याज में छूट, सस्‍ती दवा समेत वित्‍त मंत्री ने दी थीं ये 15 सौगातें

केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को पेश किए बजट 2016 में किसानों के लिए कई अहम घोषणाएं कीं। हालांकि, उन्‍होंने शहरी नागरिकों को भी कई तोहफे दिए हैं।

Author नई दिल्‍ली | February 1, 2018 10:15 AM
वित्‍त मंत्री अरुण जेटली और वित्‍त राज्‍य मंत्री 29 फरवरी को संसद में बजट पेश करते हुए।

केंद्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने 2016 के बजट में किसानों के लिए कई अहम घोषणाएं कीं थीं। हालांकि, उन्‍होंने शहरी नागरिकों के लिहाज से भी कई अहम बातें कहीं थीं। आइए जानते हैं बजट 2016 में वित्‍त मंत्री ने देशवासियों को दी थी कौन-कौन सी सौगात….

1- इस बार सरकार किसानों लिए क्रॉप इंश्योरेंस स्कीम लेकर आई। इसके अलावा गरीबों के लिए 1 लाख रुपए सालाना का हेल्थ इंश्योरेंस भी बजट में रखा गया।

2- 1.5 करोड़ गरीबों को दो साल में रसोई गैस कनेक्शन देने का लक्ष्‍य रखा गया।

3- 3000 सस्ती दवाओं के केंद्र देशभर में खोले जाएंगे।

4- राष्ट्रीय डायलिसिस सेवा का एलान। हर सरकारी जिला अस्पताल में डायलिसिस होगा।

5- नए इम्प्लॉई की सैलरी से पहले 3 साल पीएफ नहीं कटेगा। इम्प्लॉई का पीएफ कॉन्ट्रिब्शून भी सरकार ही देगी। इसके अलावा ईपीएफ का दायरा बढ़ाया जाएगा।

6- 1 मई 2018 तक देश के सभी गांवों को बिजली।

7- 50 लाख से कम कीमत में पहला घर खरीदने वालों को सरकार की ओर से ब्‍याज में सालाना 50000 रुपए अतिरिक्‍त ब्‍याज छूट

8- 80जीजी के तहत हाउस रेंट छूट की सीमा 24 हजार से बढ़ाकर 60 हजार रुपए

9- पांच लाख से कम इनकम वालों के लिए सेक्‍शन 87 ए के तहत टैक्‍स सिलिंग 2000 से बढ़ाकर 5000 रुपए

10- दालों की कीमत स्थिर रखने के लिए 900 करोड़ खर्च करेगी सरकार

11- मजदूरों के काम के घंटे और छुट्टी तय करेगी सरकार

12- 1 लाख रुपए प्रति परिवार के साथ लॉन्‍च की जाएगी हेल्‍थ प्रोटेक्‍शन स्‍कीम

13- 62 नए नवोदय स्‍कूल खोले जाएंगे। एससी और एसटी हब बनाने की तैयारी

14- 1500 स्किल डेवलपमेंट सेंटर खुलेंगे। इसके लिए 17000 करो़ड़ रुपए, अलॉट किए गए।

15- केंद्र सरकार एससी-एसटी एजुकेशन हब बनाने के लिए भी बड़े स्‍तर पर काम करने का ऐलान।

Read Also: Budget 2016: पढ़ें, क्‍या-क्‍या हुआ महंगा

Read Also: Budget 2016: वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने INCOME TAX से जुड़ी कीं ये घोषणाएं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App