ताज़ा खबर
 

आरक्षण पर फैसले का मायावती ने किया स्‍वागत, मगर केंद्र की नीयत पर उठाए सवाल

बसपा अध्यक्ष मायावती ने आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों को आरक्षण देने के मोदी सरकार के फैसले का स्वागत करते हुये इसे देर से उठाया गया कदम किंतु एक चुनावी स्टंट बताया है।

Author Updated: January 8, 2019 3:07 PM
मायावती, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

बसपा अध्यक्ष मायावती ने आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के लोगों को आरक्षण देने के मोदी सरकार के फैसले का स्वागत करते हुये इसे देर से उठाया गया कदम किंतु एक चुनावी स्टंट बताया है। मायावती की ओर से मंगलवार को जारी बयान में कहा गया है कि देश में गरीब सवर्णों को भी आरक्षण की सुविधा देने की बसपा की वर्षों से लंबित मांग को आधे अधूरे मन और अपरिपक्व तरीके से स्वीकार किये जाने के बावजूद वह इसका स्वागत करती हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अगर सरकार यह फैसला पहले करती तो बेहतर होता।

बसपा अध्सक्ष ने कहा ‘‘लोकसभा चुनाव से पहले लिया गया यह फैसला हमें सही नीयत से लिया गया फैसला नहीं बल्कि चुनावी स्टंट लगता है, राजनीतिक छलावा लगता है।’’ उन्होंने कहा कि अगर भाजपा अपना कार्यकाल ख़त्म होने से ठीक पहले नहीं बल्कि और पहले यह फैसला करती तो अच्छा होता ।
उल्लेखनीय है कि सामान्य वर्ग के गरीबों को दस प्रतिशत आरक्षण देने के मोदी सरकार के फैसले को सोमवार को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिलने के बाद इसे अमल में लाने के लिये सरकार ने मंगलवार को संविधान संशोधन विधेयक लोक सभा में पेश कर दिया।

 

मायावती ने अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्ग के लोगों को मिल रहे आरक्षण की पुरानी व्यवस्था की समीक्षा की जरूरत पर बल देते हुये कहा कि इन वर्गों की बढ़ी हुयी आबादी के हिसाब से इन्हें समुचित आरक्षण देने की सख्त जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CBI मामले में जिन अधिकारियों ने पीएम को गुमराह किया, उनपर हो कार्रवाई: बीजेपी सांसद
2 Reservation Debate in Parliament Updates: आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को आरक्षण देने वाला बिल पास, पक्ष में 323 और विरोध में पड़े महज 3 वोट
3 रिजर्व बैंक से कम से कम 23,100 करोड़ रुपये मांग रही मोदी सरकार, ये है वजह
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit