BSP chief Mayawati attack on UP CM Akhilesh yadav in rally in Lucknow - - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मायावती का अखिलेश यादव पर निशाना, कहा- यूपी के मुख्यमंत्री सच में बबुआ हैं

मायावती आज लखनऊ में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस के मौके पर रैली कर रही थीं

लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती। (PTI Photo by Nand Kumar/14 Nov, 2016)

बसपा प्रमुख मायावती ने आज लखनऊ में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस के मौके पर रैली की। रैली में उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा। उन्होंने अखिलेश यादव को एक बार फिर ‘बबुआ’ संबोधित करते हुए कहा कि दलित नेताओं और मूर्तियों पर गलत बयान देने वाले यूपी के सीएम सच में बबुआ हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव मूर्तियों पर सवाल उठाकर महापुरुषों का अपमान कर रहे हैं।

बता दें कि सोमवार को बसपा प्रमुख मायावती पर हमला बोलते हुए अखिलेश ने कहा था कि पत्थर वाली सरकार ने हमसे पहले कोई काम नहीं किया, जो भी काम दिख रहा है वह सब हमने किया है। उन्होंने कहा कि पत्थर वाली सरकार ने सिर्फ हाथी लगवाएं, लेकिन लोग हाथी देखने की बजाए बोट पर बैठ रहे हैं। अखिलेश को जवाब देते हुए मायावती ने कहा, “मेरी सरकार ने जो डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के स्मारक लगाए हैं उन्हें देखने हजारों की संख्या में लोग आते हैं। समाजवादी सरकार अपने सैफई महोत्सव के लिए गरीबों का पैसा बेदर्दी से खर्च करती है, उससे तो कोई आय भी नहीं होती।”

सीएम कर रहे प्रचार:

मायावती ने कहा, “अखिलेश को सपनों में भी हाथी परेशान करते होंगे। हाथी पर बयान देकर अखिलेश बसपा का प्रचार कर रहे हैं। अखिलेश मूर्तियों पर सवाल उठाकर महापुरुषों का अपमान कर रहे हैं। आपके नेताओं की मूर्तियां खड़ी नहीं रहतीं? ऐसी बाते करने वाला सच में बबुआ है।” उन्होंने कहा कि अंबेडकर की वजह से ही धार्मिक अल्पसंख्यक सुरक्षित हैं।

भाजपा पर साधा निशाना:

अंबेडकर ने हमारे संविधान का प्रारूप धार्मिक समानता के आधार पर बनाया था। बाबा का संविधान बीजेपी को पसंद नहीं है। बीजेपी और आरएसएस के लोग देश में जातिवादी वर्ण व्यवस्था को लागू करना चाहते हैं। बसपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी हिंदुत्व के आधार पर समाज को विभाजित करने की कोशिश कर रही है। लोकसभा इलेक्शन में किए वादों को आज तक बीजेपी ने पूरा नहीं किया है। बीजेपी राज में सिर्फ कंगाली और फकीरी ही मिलेगी।

 

बाबासाहेब भीमराव अंबेदकर की 61वीं पुण्यतिथि; राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी श्रद्धांजलि

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App