ताज़ा खबर
 

दिल्ली में गिरा विमान, बीएसएफ के दस जवानों की मौत

तकनीशियनों को लेकर रांची जा रहा बीएसएफ का एक छोटा विमान मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बाहरी इलाके और इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के समीप द्वारका में दुर्घटनाग्रस्त हो गया..

Author नई दिल्ली | Published on: December 23, 2015 2:01 AM
इंदिरा गांधी हवाईअड्डे के पास दुर्घटनाग्रस्त बीएसएफ का विमान।

तकनीशियनों को लेकर रांची जा रहा बीएसएफ का एक छोटा विमान मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बाहरी इलाके और इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के समीप द्वारका में दुर्घटनाग्रस्त हो गया और इसमें सवार सभी 10 लोगों की मौत हो गई। विमान उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद आइजीआइ हवाईअड्डे के ठीक बाहर लपटों से घिरकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। विमानन सूत्रों ने बताया कि यह दुर्घटना सुबह लगभग नौ बजकर 50 मिनट पर उस समय हुई, जब दो ईंजन वाला सुपरकिंग विमान किसी तकनीकी खामी के चलते रांची के लिए उड़ान भरने के महज पांच ही मिनट बाद वापस लौटते समय एक रेलवे पटरी के पास बनी हवाईअड्डे की चारदीवारी से जा टकराया। दीवार से टकराने के बाद यह एक जल शोधन संयंत्र में जा गिरा।

उन्होंने कहा कि विमान का वायु यातायात नियंत्रक से संपर्क सुबह नौ बजकर 50 मिनट पर टूट गया था। केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि चालकों समेत सभी 10 लोग दुर्घटना में मारे गए।’ विमान में दो चालक सवार थे। उन्होंने कहा, ‘यह जांच का विषय है कि आखिर दुर्घटना हुई क्यों? हम इसके बारे में जांच के बाद ही बता सकते हैं कि आखिर ऐसे क्या कारण या क्या खामियां रहीं कि यह घटना हो गई?’ बीएसएफ के सूत्रों ने बताया कि तकनीशियन एक हेलिकॉप्टर की मरम्मत के लिए रांची जा रहे थे। बीएसएफ के सूत्रों के मुताबिक, ढाका में भारत और बांग्लादेश के बीच आयोजित होने वाली डीजी स्तर की वार्ता को इस दुर्घटना के चलते रद्द कर दिया गया।

जानकारी मिलने तक, पुलिस के मुताबिक घटनास्थल से छह शव बरामद किए जा चुके थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुर्घटना में लोगों के मारे जाने पर शोक जाहिर किया है। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में बीएसएफ के विमान की दुर्घटना में जानें चली जाने से व्यथित हूं। मेरी संवेदनाएं मृतकों के परिवारों के साथ हैं।’ प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि विमान हवाईअड्डे के तकनीकी क्षेत्र के बाहर एक दीवार से टकरा गया था। इसके बाद यह लपटों से घिर गया और फिर एक जलाशय में जा गिरा था।

एक प्रत्यक्षदर्शी सूरज ने संवाददाताओं को बताया, ‘हमने विमान को चक्कर खाते हुए नीचे आते देखा जो दीवार के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वहां काम चल रहा था। मैं एक शव देख पाया। वहां काम कर रहा एक मजदूर भी घायल हो गया।’ यह क्षेत्र गहरे धुंए और आग से घिर गया और विमान के टुकड़े इधर-उधर बिखर गए। इस बीच, दिल्ली के दमकल विभाग के प्रमुख एके शर्मा ने कहा कि 15 दमकल गाड़ियों को आग पर काबू पाने के लिए मौके पर भेजा गया। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस विमान दुर्घटना की जानकारी दी और वह स्वयं दुर्घटनास्थल के लिए रवाना हो गए।

विमान में सवार 10 लोगों में एक चालक (एसआइबी में सेकेंड-इन-कमांड रैंक अधिकारी), सह चालक (डिप्टी कमांडेंट), छह तकनीशियन, एक इंजीनियर और चालक दल का एक सदस्य शामिल था। नागरिक उड्डयन सचिव आर एन चौबे ने कहा कि अधिकारी इस दुर्घटना की जांच के लिए समिति बना रहे हैं। बीएसएफ के एअरविंग के बेड़े में चार ‘फिक्स्ड विंग’ विमान हैं- इनमें से एक एंब्रेयर, दो एव्रोज और एक मंगलवार को दुर्घटनाग्रस्त हुआ सुपरकिंग (एसकेए बी-200) है।

इसके अलावा 15 हेलिकॉप्टर केंद्रीय गृह मंत्रालय की कमान में संचालित होते हैं। इन 15 हेलिकॉप्टरों में छह एमआई-17 1वी, दो आधुनिक एमआई-17 वी5 चॉपर, छह आधुनिक हल्के हेलिकॉप्टर (ध्रुव) और चीता हेलिकॉप्टर शामिल हैं। सुपरकिंग को सीमा सुरक्षा बल में वर्ष 1994-95 में शामिल किया गया था। पीड़ितों की पहचान विमान के प्रमुख चालक और बीएसएफ के उप कमांडेंट भगवती प्रसाद भट्ट, एसएसबी के सेकेंड-इन-कमांड और विमान के सहचालक राजेश शिवरैन, उप कमांडेंट डी कुमार, इंस्पेक्टर राघवेंद्र कुमार यादव, इंस्पेक्टर एस एन शर्मा, सब-इंस्पेक्टर – रविंद्र कुमार, सुरेंद्र सिंह, सीएल शर्मा, एएसआइ डीपी चौहान और कांस्टेबल के आर रावत के रूप में हुई है।

बल के प्रवक्ता ने कहा कि कुल 11 सीटों वाला यह विमान वर्ष 1994-95 में बीएसएफ में शामिल किया गया था। दुर्घटनास्थल पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मारे गए दस जवानों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। तीन शव एक जलाशय के बाहर पूरी तरह से जली हुई अवस्था में मिले जबकि शेष शवों को जलाशय से निकाला गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X