ताज़ा खबर
 

बीएसएफ डीजी ने कहा- जवान की हत्‍या का ले लिया बदला, राजनाथ बोले- कुछ हुआ है, मैं बताऊंगा नहीं

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 'कुछ तो हुआ है। मैं बताऊंगा नहीं। महज दो-तीन दिल पहले ऐसा हुआ है।'

पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम (PBAT) द्वारा भारतीय जवान की हत्या से जुड़ी जानकारी साझा करते हुए शर्मा ने बताया कि नरेंदर सिंह को सीने पर तीन गोलियां मारी गईं। उन्हें बाढ़ की दूसरी तरफ खींच लिया गया। उनके पैर बंधे हुए थे, गला काट दिया था। (PTI photo)

दो साल पहले भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में आतंकी ठिकानों को निशाना बनाते हुए सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। अब सीमा सुरक्षा बल के निवर्तमान डायरेक्टर जनरल केके शर्मा ने 18 सितंबर को पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम द्वारा मारे गए भारतीय जवान नरेंदर सिंह की शहादत के बदले से जुड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हमने अपने सैनिक की मौत का बदला लेने के लिए एलओसी पर पर्याप्त कार्रवाई की है। शुक्रवार (28 सितंबर, 2018) को नई दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत ने उन्होंने कहा कि पर्याप्त कार्रवाई की गई है। हालांकि उन्होंने इस मामले में विस्तार से बात नहीं की। इसके अलावा केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी मुजफ्फरनगर में ये बात कही। उन्होंने कहा, ‘कुछ तो हुआ है। मैं बताऊंगा नहीं। महज दो-तीन दिल पहले ऐसा हुआ है। इंडियन एक्सप्रेस ने बताया कि न्यूज चैनल एनडीटीवी ने अपनी वेबसाइट पर एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियों में राजनाथ सिंह को कहते सुना जा सकता है कि ‘कुछ हुआ है। मैं बताऊंगा नहीं। बतलाया भी नहीं। हुआ है और ठीक-ठाक हुआ है। विश्वास रखना, ठीक-ठाक हुआ है दो तीन दिन पहले… और आगे भी देखिएगा क्या होगा।

वहीं पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम (PBAT) द्वारा भारतीय जवान की हत्या से जुड़ी जानकारी साझा करते हुए शर्मा ने बताया कि नरेंदर सिंह को सीने पर तीन गोलियां मारी गईं। उन्हें बाढ़ की दूसरी तरफ खींच लिया गया। उनके पैर बंधे हुए थे, गला काट दिया था। हालांकि बीएसएप प्रमुख ने कहा कि जवान के शरीर को विकृत नहीं किया गया। उनकी मौत की वजह गोली लगना थी। उन्होंने बताया, ‘एलओसी के अलावा कुछ काउंटर एक्शन पहले ही लिए जा चुके हैं। हमनें अपने सैनिक की शहादत का बदला लेने के लिए पर्याप्त कार्रवाई की है। हमने कठोर और उचित जवाब दिया है जिससे उनका कई गुना नुकसान हुआ है। हम ऐसा दोबारा करेंगे।’ बीएसएफ चीफ के मुताबिक पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम की घटना वाले दिन बीएसएफ ने देखा कि दूसरी तरफ बिल्कुल खाली था। वो कहीं भी नहीं थे। इसके अलावा उन्होंने अपने गांवों को भी खाली करा दिया। वो सोच रहे थे कि हम हमला करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App