ताज़ा खबर
 

ब्रिक्स ने आतंकियों को आर्थिक मदद से वंचित करने पर जताई सहमति

ब्रिक्स समूह के शीर्ष सुरक्षा सलाहकारों ने आतंकवाद निरोध के मुद्दों पर सर्वश्रेष्ठ दस्तूरों, विशेषज्ञता, सूचना एवं जानकारी के सहयोग और आदान-प्रदान को प्रोत्साहन दिया।

Author नई दिल्ल | Published on: September 16, 2016 2:37 AM
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (फाइल फोटो)

ब्रिक्स समूह के शीर्ष सुरक्षा सलाहकारों ने आतंकवादियों को वित्तीय और हथियारों तक पहुंच से वंचित करने में सहयोग पर गुरुवार (15 सितंबर) को सहमति जताई और पश्चिम एशिया और उत्तर अफ्रीकी क्षेत्र से उपजने वाले आतंकवाद और हिंसक उग्रवाद का मुकाबला करने के लिए संयुक्त प्रयास शुरू करने का संकल्प जताया। यह फैसला ब्रिक्स की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार उच्च प्रतिनिधियों ने यहां छठी बैठक में की। इसकी अध्यक्षता राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने बताया कि आतंकवाद निरोध, साइबर सुरक्षा और ऊर्जा सुरक्षा जैसे सुरक्षा मुद्दों पर उन्होंने चर्चा की। उन्होंने पश्चिम एशिया और उत्तर अफ्रीका (डब्ल्यूएएनए) क्षेत्र में हाल के घटनाक्रमों के मूल्यांकन का भी आदान-प्रदान किया। भारत ने हमेशा कहा है कि शुरूआत से ही आतंक के मुद्दे पर बंटा हुआ रवैया नहीं होना चाहिए।

उच्च प्रतिनिधियों ने आतंकवाद निरोध के मुद्दों पर सर्वश्रेष्ठ दस्तूरों, विशेषज्ञता, सूचना एवं जानकारी के सहयोग और आदान-प्रदान को प्रोत्साहन दिया। इस संदर्भ में उन्होंने आतंकवाद निरोध पर ब्रिक्स कार्य समूह की पहली बैठक का स्वागत किया, जो एक दिन पहले हुई थी। उन्होंने ब्रिक्स आतंकवाद निरोधी सहयोग को बढ़ाने पर भी सहमति जताई। इसमें आतंकवादियों को धन और आतंक हार्डवेयर यथा उपकरण, शस्त्र और गोला-बारूद तक पहुंच से वंचित करने के कदम शामिल हैं। उन्होंने आतंकवाद की वैश्विक समस्या से निपटने के लिए वैश्विक विधि व्यवस्था की आवश्यकता पर जोर दिया। ब्राजील के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ब्राजील गणराज्य के प्रेसीडेंसी के सांस्थानिक सुरक्षा के लिए कैबिनेट के प्रमुख जनरल सर्गियो वेस्टफालेन इचगोयन, रूसी फेडरेशन की सुरक्षा परिषद के सचिव निकोलाई पी पात्रुशेव, चीन का स्टेट काउंसलर यांग जियेची और दक्षिण अफ्रीका का बांगिसेनी डेविड माहलोबो ने प्रतिनिधित्व किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कावेरी मुद्दा: आइओसीएल कार्यालय पर पथराव
2 विदाई की तैयारी में मॉनसून के बदरा
3 लीबिया में बंधक बने दो भारतीय कराए गए रिहा
ये पढ़ा क्‍या!
X