डॉ कफील खान पर योगी सरकार का एक्शन, बर्खास्त किए गए, प्रियंका गांधी ने बताया नफरती एजेंडा

बता दें कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में अगस्त 2017 को ऑक्सीजन की कमी से कई बच्चों की मौत हो गई थी। इस मामले ने यूपी में सियासी तूफान खड़ा कर दिया था।

Kafeel Khan, BRD Collage news
डॉक्टर कफील खान की बर्खास्तगी को लेकर प्रियंका गांधी ने आलोचना की है(फोटो सोर्स: फाइल/ANI)।

साल 2017 में गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन की कमी के चलते कई बच्चों की मौत हो गई थी। चार साल बाद इस मामले में आरोपित डॉ कफील खान को बर्खास्त कर दिया गया है। इस संबंध में यूपी प्रमुख सचिव (चिकित्सा शिक्षा) आलोक कुमार ने जानकारी दी कि, इस मामले की जांच में कफील खान को दोषी पाया गया है।

बता दें कि निलंबित चल रहे डा. कफील को महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा (डीजीएमई) कार्यालय से संबद्ध किया गया था। आलोक कुमार ने कहा कि चूंकि मामला उच्च न्यायालय में लंबित है इसलिए कफील खान की बर्खास्तगी की जानकारी कोर्ट में दी जाएगी। वहीं इस बर्खास्तगी को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने आलोचना की है।

प्रियंका गांधी ने कहा- न्याय की लड़ाई में साथ है कांग्रेस: प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, “योगी सरकार द्वारा डॉ. कफील खान की बर्खास्तगी दुर्भावना से प्रेरित है। नफरती एजेंडा से प्रेरित सरकार उनको प्रताड़ित करने के लिए ये सब कर रही है। लेकिन सरकार को ध्यान रखना चाहिए कि वो संविधान से ऊपर नहीं है। कांग्रेस पार्टी डॉ कफील की न्याय की लड़ाई में उनके साथ है और हमेशा रहेगी।”

गौरतलब है कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में अगस्त 2017 में आक्सीजन की कमी से कई बच्चों की मौत हो गई थी। इसके बाद 22 अगस्त को डॉ कफील को निलंबित कर दिया गया था, उनके खिलाफ जांच चल रही थी। जिसमें उन्हें दोषी पाया गया है।

हालांकि डाॅ. कफील ने खुद निलंबन को लेकर हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। वहीं इस मामले में कफील खान समेत 9 लोगों पर आरोप था।

बर्खास्तगी के खिलाफ जाएंगे कोर्ट: कफील खान के निलंबन के मामले में अगली सुनवाई सात दिसंबर को है। ऐसे में कफील खान कहा कि अभी उन्हें बर्खास्त किए जाने के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने कहा मुझे कोर्ट पर भरोसा है। सरकार की तरफ से बर्खास्तगी के खिलाफ भी कोर्ट जाएंगे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रत्याशी समेत अनेक लोगों पर मुकदमा