ताज़ा खबर
 

चलती ट्रेन में मुसलमानों पर हमले से दुखी बरखा ने लिखा: यदि मैं मुस्लिम होती

बरखा ने लिखा है कि यदि मैं मुस्लिम होती तो खून से सने जुनैद के चेहरे को देखकर ईद कैसे मनाती?

एनडटीवी की पूर्व पत्रकार टीवी पत्रकार बरखा दत्‍त। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में चलती ट्रेन में लूट के शिकार एक मुस्लिम परिवार के लिए पत्रकार बरखा दत्त ने अपनी चिंता जाहिर की है। इस घटना से दुखी पत्रकार बरखा दत्त ने अपना एक पुराना आर्टिकल अपने ट्विटर पर फिर से पोस्ट किया है। इस आर्टिकल का शीर्षक है, ‘यदि मैं मुस्लिम होती…’। इस लेख के जरिये पत्रकार बरखा दत्त ने देश में मुसलमानों के खिलाफ हो रही हिंसा की घटनाओं पर चिंता जाहिर की है। बरखा दत्त ने लिखा है कि अगर मैं मुस्लिम होती तो क्या इस देश में मेरी आवाज सिर्फ इसलिए नहीं सुनी जाती क्योंकि देश के राजनीतिक नेतृत्व को चुनाव जीतने के लिए मेरे वोट की जरूरत नहीं है। बरखा ने लिखा है कि यदि मैं मुस्लिम होती तो खून से सने जुनैद के चेहरे को देखकर ईद कैसे मनाती? बरखा कहती हैं कि मैं पहलू खान को देखकर खुद से क्या कहती। बरखा आगे लिखती हैं कि यदि मैं मुस्लिम होती तो मुझे ये सोचकर कैसा महसूस होता कि भारत के राष्ट्रपति द्वारा आयोजित इफ़्तार पार्टी में कोई केन्द्रीय मंत्री नहीं पहुंचा।

HOT DEALS
  • Panasonic Eluga A3 Pro 32 GB (Grey)
    ₹ 9799 MRP ₹ 12990 -25%
    ₹490 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Champagne Gold
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback

बरखा के इस ट्वीट पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रियाएं दी हैं, और उनपर सिर्फ मुसलमानों के हितों का ख्याल रखने का आरोप लगाया है। एक यूजर ने लिखा है, आपका ये राग पुराना हो गया, कुछ नया सोचिए, देश में मु्द्दों की कमी नहीं है। एक यूजर का कहना है कि अमरनाथ यात्रा से लौट रहे हिन्दुओं की हत्या पर अगर आप कुछ बोल देती तो अच्छा रहता। संजीव नाम के एक यूजर का कहना है कि पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं पर हमला किया गया, उनकी बेरहमी से हत्या की गई, उनके घर जला दिये गये, लेकिन आप ने कुछ नहीं कहा, आपका गुस्सा कुछ खास लोगों के समर्थन में है। कपिल शर्मा नाम के एक यूजर ने लिखा है कि अगर आप एक शरिया शासित मुस्लिम राज्य में रहतीं तो आपको समझ में आता। परफेक्ट अश्विनी नाम के एक यूजर का कहना है कि, ‘बेहतर होता बंगाल पे भी कुछ बोल देतीं, पर नहीं, आप तो पाकिस्तान परस्त हो,
हम आतंकवाद से लड़ लेंगे पर आपके जैसे आस्तीन के सांपो से कैसे लड़ें।’

बता दें कि बुधवार 12 जुलाई को उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में चलती ट्रेन में मुस्लिम परिवार के साथ मारपीट और डकैती की घटना हुई थी। बदमाशों ने सफर कर रहे लोगों से मारपीट की और उनके सामान भी लूट लिये। लुटेरों ने इस दौरान एक दिव्यांग शख्स से भी मारपीट की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App