ताज़ा खबर
 

कंगना रनौत बोलीं- देश को बुरा बताना, राष्‍ट्रगान के लिए न खड़े होना ‘कूल’ हो गया है

कंगना रनौत ने इस दौरान बॉलीवुड में पाकिस्तानी कलाकारों के भारत में काम करने के लेकर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कलाकार 'शब्द' भौतिक दुनिया से अलग है।

‘सिमरन’ एक्ट्रेस ने कहा है कि वह नरेंद्र मोदी की उनकी सफलता के कारण बड़ी फैन हैं।

बॉलीवुड एक्टर कंगना रनौत ने खुद को राष्ट्रवादी बताया है। उन्होंने कहा है कि एक इंसान की रूप में उनकी प्रगति देश के विकास जुड़ी हुई है। ‘सिमरन’ एक्टर ने कहा है कि वह धर्म में विश्वास नहीं करती हैं और इस निष्कर्ष पर पहुंची हैं कि उनकी पहचान सिर्फ एक भारतीय के रूप में है। एक सवाल के जवाब में कंगाना ने कहा, ‘एक युवा के रूप में अपने जीवन में विकास देखना चाहती हूं। जब तक भारत का विकास नहीं होगा तब तक मेरा भी विकास नहीं होगा। मै भारतीय हूं और मैंने एक भारतीय के यहां जन्म लिया है। इसके अलावा मेरी कोई पहचान नहीं है।’ दरअसल कंगाना रनौत न्यूज-18 के ‘राइजिंग इंडिया समिट’ में पहुंची थी। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘मैंने कुछ साक्षात्कारों में भी कहा है कि मैं एक राष्ट्रवादी हूं। लोग कहते हैं तो मैं उस तरह की इंसान की हूं। जब मैंने पूछा कि उस तरह से मतलब? मुझे निजी तौर पर लगता है कि इन शब्दों के बीच भ्रम है।’ प्रधानमंत्री से जुड़े सवाल के जवाब में कंगाना ने स्वीकार किया कि वह नरेंद्र मोदी की बड़ी प्रशंसक हैं और कहा कि देश में महिलाओं को सही भूमिका निभाने की जरूरत हैं। उन्होंने कहा, ‘मोदी की सफलता की कहानी के कारण में मैं उनकी बहुत बड़ी प्रशंसक हूं। एक युवा महिला के तौर पर मुझे विश्वास है कि हमें सही ‘रोल मॉडल’ की आवश्यकता है। मेरे कहने का मतलब है कि जब एक चायवाला देश का प्रधानमंत्री बनता है तो सिर्फ यह उसकी जीत नहीं है बल्कि यह लोकतत्र की जीत है। मुझे लगता है कि वह (मोदी) सही ‘रोल मॉडल’ हैं।’

कंगना रनौत ने इस दौरान बॉलीवुड में पाकिस्तानी कलाकारों के भारत में काम करने के लेकर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कलाकार ‘शब्द’ भौतिक दुनिया से अलग है। कलात्मक दायरा भौतिक दायरे से अलग है। मतलब जब आप भौतिक सीमाओं की बात करते हैं तो आप बॉर्डर की बात कर रहे हैं। आपको ऐसे स्थान के बारे में पता होना चाहिए जहां लोग जीवन खो रहे हैं। वर्तमान में पाकिस्तानी कलाकारों पर लगे प्रतिबंध पर कंगना रनौत ने कहा, ‘पाकिस्तान कमजोर है, जहां के लोग संघर्ष और भावनाओं से निपटने की कोशिश कर रहे हैं। आम भावना है कि हमको क्या लेना-देना उनसे। हम तो कलाकार हैं। यह सब काम करने वाला नहीं है। इन सब से ऊपर हम एक भारतीय हैं और जब आप सीमाओं की बात करते हैं तब आप गुप्त दुनिया में जाकर यह नहीं कह सकते कि मैं एक कलाकार हूं।’

कंगना ने आगे कहा कि पता नहीं लोगों को राष्ट्रगान के वक्त खड़े होने में क्या समस्या है। राष्ट्रगान के लिए खड़े ना होना ‘कूल’ हो गया है। इस दौरान उन्होंने अमेरिकी लोगों के हवाला देते हुए कहा, ‘अमेरिकी अपने राष्ट्रगान के लिए खड़े होते हैं। खड़ा होने में शर्म किसी बात की। अगर अमेरिका से कुछ सीखना चाहते हैं तो अच्छी बात उनसे सीखिए।’ एक सवाल में उनसे पूछा गया कि अगर लोग उनसे सहमत ना हो तो? इसपर कंगना ने कहा कि मुझे कोई दिक्कत नहीं, लेकिन मैं अपने राष्ट्रगान के लिए खड़ी रहूंगी। मेरे देश की सेना और मैं 21वीं सदी के युवा नौजवान हैं। बॉलीवुड एक्ट्रेस ने इस दौरान उन लोगों पर भी निशाना साधा जो संसाधन के अभाव और स्वच्छता की कमी पर देश को बुरा बताते हैं। ऐसे लोग को खुद आगे आकर देश को स्वच्छ बनाने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App