ताज़ा खबर
 

मॉब लिंचिंग के पीड़ितों के साथ खड़े हुए नसीरुद्दीन शाह, बोले- कुछ मुझे देशद्रोही कहते हैं…

हॉलीवुड फिल्मों में भी खूब नाम कमा चुके शाह ने दादर में ‘स्टेट कंप्लिसिटी इन हेट क्राइम्स’ विषयक पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन में यह बात कही।

बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह।

मशूह बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह ने देशभर में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर मार डाले गए लोगों के परिवारिक सदस्यों के प्रति रविवार (21 जुलाई, 2019) को एक जुटता जताई। हॉलीवुड फिल्मों में भी खूब नाम कमा चुके शाह ने दादर में ‘स्टेट कंप्लिसिटी इन हेट क्राइम्स’ विषयक पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन में यह बात कही। उन्होंने कहा कि भीड़ द्वारा पीट पीटकर मार डालने की घटनाओं के पीड़ित लोगों के परिवारों से काफी दर्द झेला है। कार्यक्रम का आयोजन ‘डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन आफ इंडिया’ द्वारा किया गया था।

शाह ने आगे कहा, ‘‘मैं पीड़ित परिवार के साथ इस कार्यक्रम में होने में गर्व महसूस करता हूं और उनके साहस को सलाम करता हूं। उन्होंने अपने जीवन में हमसे कहीं अधिक मुश्किलों का सामना किया है। हमने उनकी मुश्किलों का दो फीसदी भी सामना नहीं किया है।’ फिल्म एक्टर ने कहा कि उनकी टिप्पणियों के लिए अक्सर उनकी आलोचना की जाती है।

उन्होंने कहा, ‘कुछ लोग मुझे देशद्रोही कहते हैं, कुछ मुझे पाकिस्तान जाने के लिए कहते हैं। मगर ये ताने भीड़ के हमले का सामना करने वाले लोगों के दर्द की तुलना में कुछ भी नहीं है। मेरी सहानुभूति और मेरा साथ हमेशा इन लोगों के साथ रहेगा।’

बता दें कि बॉलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह पूर्व में भी देश में भीड़ की हिंसा की बढ़ती घटनाओं की आलोचना कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि बुलंदशहर में भीड़ द्वारा एक पुलिसकर्मी की हत्या पर गाय की मौत को महत्व दिया जा रहा है। शाह का तब एक वीडियो भी सामने आया था जिसमें वह कहते नजर आए, ‘कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है। ऐसे माहौल में मुझे अपनी औलादों के बारे में सोचकर फिक्र होती है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Weather Forecast Today Updates: दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद पारा गिरा
2 सबको मिले मौका इसलिए संसद में देर रात तक चल रही कार्यवाही, आखिरी घंटों में स्पीकर ओम बिरला खुद संभाल रहे कमान
3 पर्यावरण के प्रति बेहद संवेदनशील थीं शीला