ताज़ा खबर
 

लोग जिसके साथ चाहें, उसके साथ रोमांटिक रिश्‍ते बना सकते हैं: आमिर खान

आमिर का मानना है कि रचानात्मक लोग ऐसे दृष्टिकोण में बदलाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

Author मुंबई | Updated: December 11, 2017 4:47 PM
Secret Superstar, Thugs of Hindostan, Amir Khan, Durga Pooja, Gujarat, Vadodra, Durga Pooja Video, Aamir Khan Twitter, Secret Superstar Movieबॉलीवुड अभिनेता आमिर खान (photo source – Indian Express)

देश में सामने आ रहे यौन उत्पीड़न के तमाम मामलों को लेकर अभिनेता आमिर खान का मानना है कि इस लिंगभेद संबंधी सामाजिक दिक्कत को दूर करने के लिए लोगों की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए कलाकार और रचनात्मक क्षेत्र के लोग महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। महिला सशक्तिकरण को अपनी फिल्मों ‘दंगल’ और ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ का विषय-वस्तु बनाने वाले आमिर खान का मानना है कि यह सारा मसला सीधे तौर पर पितृसत्ता से जुड़ा हुआ है। हार्वी वेंस्टिन वाले मामले के संबंध में सवाल करने पर अभिनेता ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि, आपका लिंग चाहे कोई भी हो, यौन उत्पीड़न किसी के साथ होने वाली बहुत दुखद घटना है जो कि गलत है।’’

आमिर का कहना है कि ऐसे मामले ना सिर्फ फिल्म जगत में बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी हो रहे हैं। फिलहाल थाईलैंड में ‘ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ की शूटिंग कर रहे आमिर ने पीटीआई-भाषा के साथ टेलीफोन इंटरव्यू में कहा, ‘‘मुझे लगता है कि लोग जिसके साथ चाहें, रोमांटिक संबंध बनाने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन आप किसी को अपने साथ शारिरीक संबंध बनाने के लिए मजबूर नहीं कर सकते। ऐसा सिर्फ फिल्मों में नहीं होता है, यह जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में होता है।’’आमिर खान का कहना है कि यौन उत्पीड़न को सिर्फ किसी अलग-थलग मुद्दे के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए क्योंकि यह समाज की रूपरेखा तय करने वाली लिंगात्मक भूमिकाओं से जुड़ा है।

आमिर का मानना है कि रचानात्मक लोग ऐसे दृष्टिकोण में बदलाव लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह बड़े मुद्दे से जुड़ा हुआ है। ना सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया में, इस पितृसत्तात्मक सोच में पुरूष ज्यादा शक्तिशाली हैं और ज्यादा महत्वपूर्ण हैं, यह चीजों को कई ओर ले जाती है। यौन उत्पीड़न उनमें से एक है।’’ अभिनेता-सह-निर्माता का मानना है कि कलाकार लोगों के विचार बनाने/बदलने में मददगार हो सकते हैं। आमिर का कहना है, ‘‘रचनात्मक लोगों की भूमिका ऐसी है कि वह पुरूषों और महिलाओं को इस रूप में पेश करें कि लोग इससे सही दिशा में प्रभावित हों। मुझे लगता है कि इसमें हमारी भी जिम्मेदारी बनती है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष: अदालत जाएंगे बागी पूनावाला, स्वामी ने बताया ‘जीरो नॉलेज’ वाला शख्स
2 अब चिदंबरम की तालिबान प्रमुख के साथ 4 साल पुरानी तस्वीर पर विवाद, बीजेपी ने उठाए सवाल
3 कांग्रेस ने किया ऐलान, राहुल गांधी निर्विरोध चुने गए पार्टी अध्यक्ष
ये पढ़ा क्या?
X