ताज़ा खबर
 

कोचिन शिपयार्ड में ONGC टैंकर में धमाका, 5 की मौत और 13 घायल

मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे सागर भूषण के पानी के टैंक से ब्लास्ट की आवाज सुनाई दी। इस दौरान लगभग 20 मजदूर काम कर रहे थे। कोच्चि शिपयार्ड में बीते एक महीने से सागर भूषण की मरम्मत का काम चल रहा था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)

केरल के कोचिन शिपयार्ड में बड़ा धमाका हो गया है। यहां मंगलवार को ओएनजीसी टैंकर में जबरदस्त ब्लास्ट हो गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस धमाके में 5 लोगों की मौत हो गई है तो वहीं 13 घायल बताए जा रहे हैं। विस्फोट के समय अधिकतर दैनिक मजदूर और ठेके पर काम करने वाले कामागार थे। मंगलवार को अवकाश होने की वजह से शिपयार्ड का कोई भी नियमित कामगार वहां मौजूद नहीं था। विस्फोट के तुरंत बाद ही दमकल की गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग को काबू में करने का काम किया। कुछ देर मशक्कत करने के बाद आग पर काबू पा लिया गया। घायल लोगों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। राहत एवं बचाव कार्य जारी है। वहीं धमाका होने की वजह अभी तक साफ नहीं हो पाई है। आपको बता दें कि कोचिन में शिपयार्ड की शुरुआत 1978 में हुई थी और यहां भारत के बड़े-बड़े जहाजों का निर्माण और उनका रखरखाव किया जाता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे सागर भूषण के पानी के टैंक से ब्लास्ट की आवाज सुनाई दी। इस दौरान लगभग 20 मजदूर काम कर रहे थे। कोच्चि शिपयार्ड में बीते एक महीने से सागर भूषण की मरम्मत का काम चल रहा था। पुलिस ने जानकारी दी है कि फिलहाल स्थिति पर लगभग काबू पा लिया गया है। कोच्चि शहर के पुलिस आयुक्त एम.पी. दिनेश ने मीडिया को बताया, “धमाके के बाद धुएं से दम घुटने से लोगों की मौत हुई है।” दिनेश ने बताया कि जांच के आदेश दिए गए हैं। निजी अस्पताल में मौजूद मजदूर संघ के नेता ने कहा कि नौ मजदूरों को यहां भर्ती कराया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 वीडियो: कर्नाटक में मंच पर पहुंचे राहुल गांधी और माइक ने दे दिया धोखा, देखिए उनका रिएक्शन
2 प्रणय रॉय ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा- एनडीटीवी के खिलाफ झूठी मुहिम चला रहे हैं सुब्रमण्‍यम स्‍वामी
3 रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की दो टूक- पाकिस्तान को चुकानी पड़ेगी सुंजवान सैन्य शिविर हमले की कीमत