ताज़ा खबर
 

जारी है छुपाकर रखे गए नए-पुराने नोटों की बरामदगी

‘तक्ष इन’ होटल में देर रात छापा मारा गया और होटल के एक कमरे से पांच लोगों को पकड़ा गया।

Author नई दिल्ली | December 15, 2016 3:18 AM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

विमुद्रीकरण के बाद बैंकों से अनधिकृत तौर पर बदले जा रहे नए नोटों की जमाखोरी और हवाला डीलरों के खिलाफ जांच एजंसियों के अभियान में करोड़ों रुपए की नकदी और सोने-चांदी की सिल्लियां-आभूषण की बरामदगी का क्रम जारी है। दिल्ली, चंडीगढ़, कर्नाटक, गोवा और तमिलनाडु में बुधवार को भी नए और पुराने नोटों में करोड़ों रुपए की नकदी बरामद की गई। प्रवर्तन निदेशालय, आयकर विभाग, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल और दिल्ली पुलिस की टीमों ने विभिन्न राज्यों में छापे मारे।  बुधवार को नई दिल्ली, चंडीगढ़ और बंगलुरू में बरामद नकदी की मात्रा बेहद अधिक रही। आयकर विभाग और दिल्ली पुलिस की संयुक्त टीमों ने करोलबाग के एक होटल में छापा मारा और वहां मौजूद पांच लोगों के पास से 3.25 करोड़ रुपए की नकदी पुराने नोटों में जब्त की। प्रवर्तन निदेशालय ने चंडीगढ़ में एक कपड़ा कारोबारी के ठिकानों पर छापे मारे और 2.20 करोड़ रुपए से ज्यादा की नकदी जब्त की। इस रकम में 17.74 लाख रुपए नई करंसी में थे। गोवा के केरी गांव में पुलिस और आयकर विभाग की छापेमारी में एक वाहन से 67.98 लाख रुपए की करंसी जब्त की गई। इसमें 24 लाख रुपए नई करंसी के दो हजार रुपए के नोटों में थे।
नई दिल्ली के ‘तक्ष इन’ होटल में देर रात छापा मारा गया और होटल के एक कमरे से पांच लोगों को पकड़ा गया। इन पांचों की पहचान अबुजर अंसारी, फजल खान, अफ्फान अंसारी, लाडू राम और महावीर सिंह के रूप में की गई है। इन पांचों के पास से बरामद 3.25 करोड़ रुपए की नकदी कई सूटकेसों और कार्टन में पैक कर रखी हुई थी। इनलोगों से पूछताछ में पता चला कि ये नोट मुंबई के कुछ हवाला आॅपरेटरों के हैं। इन पांचों ने पैकेजिंग विशेषज्ञों से इन नोटों की पैकिंग कुछ इस तरह कराई थी कि हवाई अड्डे की स्कैनिंग मशीनें भी इनका पता नहीं लगा सकीं। पैकिंग में विशेष प्रकार के चिपकाने वाले टेप और तारों का इस्तेमाल किया गया था। आयकर विभाग ने समूची नकदी जब्त कर ली है और इन सभी के मोबाइल फोन के विवरण का पता लगाया जा रहा है। प्राथमिक तौर पर इन सभी के मोबाइल से कई हवाला आॅपरेटरों के बारे में जानकारी मिली है।

चंडीगढ़ में हवाला कारोबारियों के खिलाफ चल रहे अभियान के मद्देनजर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एक कपड़ा कारोबारी के परिसरों और कुछ अन्य जगहों से 2.20 करोड़ रुपए जब्त किए। ईडी के प्रवक्ता के अनुसार, अधिकारियों को बड़ी संख्या में नोटों को छिपा कर रखे जाने की जानकारी मिली। इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए अधिकारियों ने कपड़ा व्यापारी के परिसर और अन्य जगहों पर छापेमारी की। ईडी ने बताया कि कुल करीब 2.20 करोड़ रुपए के नए नोट जब्त किए गए हैं, जिसमें 17.74 लाख रुपए के दो हजार के नए नोट, सौ-सौ रुपए के नोट में 52 लाख रुपए में, जबकि बाकी की राशि अन्य पुराने नोटबंदी वाले नोटों में मिली है। ईडी के उपनिदेशक गुरनाम सिंह के नेतृत्व में सेक्टर 22 में इंद्रपाल महाजन के घर पर रात एक बजे छापेमारी की गई। इंद्रपाल महाजन के पास से दो करोड़ 19 लाख 35 हजार 500 रुपए की नकदी जब्त की गई। इसमें डेढ करोड़ रुपए प्रचलन से बाहर हुए नोटों में हैं। जबकि, 69 लाख 35 हजार 500 रुपए नए नोटों में हैं। उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 409 (लोक सेवक, बैंककर्मी, कारोबारी या एजेंट द्वारा विश्वासघात), 420 (धोखाधड़ी) और 120 बी (साजिश) तथा भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा- सात और 13 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में बैंकों के कई अधिकारियों की गिरफ्तारी की जा सकती है। ईडी के अधिकारियों के अनुसार, महाजन के खिलाफ विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के प्रावधान के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया है और तलाशी जारी है।

उधर, बंगलुरु से मिली जानकारी के अनुसार, आयकर विभाग ने कर्नाटक और गोवा से बुधवार को कुल 3.57 करोड़ रुपए की नकदी जब्त की, जिसमें से 2.93 करोड़ रुपए नए नोटों में हैं। इसमें से बड़ी राशि यहां के एक फ्लैट से जब्त की गई, जिसकी सुरक्षा के लिए दो खूंखार कुत्ते रखे गए थे। यशवंतपुर क्षेत्र के एक अपार्टमेंट में नकदी मिलने की सूचना मिली थी। स्थानीय पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से इस फ्लैट में आयकर विभाग की टीम घुस पाई। विभाग की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, ‘बंद कमरे को खोला गया और 2.89 करोड़ बेहिसाबी रुपए जब्त किए गए, जिसमें से 2.25 करोड़ रुपए दो हजार के नए नोट में थे।’ बयान में कहा गया कि पूरी नकदी जब्त कर ली गई है और इस मामले में आगे की जांच जारी है। अन्य एक मामले में गोवा की राजधानी पणजी में दो हजार रुपए के नए नोटों में 67.98 लाख रुपए एक व्यक्ति से आयकर ने जब्त किए। यह व्यक्ति उन आयकर अधिकारियों को मिला, जो नकदी की खोज में फर्जी ग्राहक बने हुए थे। बयान में कहा गया, ‘यह राशि महाराष्ट्र और गोवा सीमा पर स्थित बंदा नाम के स्थान पर जब्त की गई।’ ईडी की कर्नाटक एवं गोवा स्थित जांच इकाइयों ने कुल 29.86 करोड़ रुपए जब्त किए हैं, जिसमें से 20.22 करोड़ रुपए नए नोटों में और 41.6 किलोग्राम सर्राफा और 14 किलोग्राम जेवरात शामिल हैं।

 

15 दिसंबर के बाद नहीं चलेंगे 500 रुपए के पुराने नोट; केंद्र सरकार ने नहीं बढ़ाई समय-सीमा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App