scorecardresearch

आप जितने ऐंकर हो, सब BJP के प्रवक्ता हो- बोले टिकैत; पत्रकार ने कहा- इधर उधर की न करें बात; काट दिया फोन

किसान नेता ने आगे पूछा, “देश की संसद बड़ी है या फिर देश का उद्योगपति?”

rakesh tikait, bku, india news
किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटोः पीटीआई)
भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के प्रवक्ता राकेश टिकैत शुक्रवार (छह अगस्त, 2021) दोपहर हिंदी न्यूज चैनल एबीपी न्यूज की एंकर शिरीन शेरी पर अपना आपा खो बैठे। कृषि कानून से जुड़ी इस डिबेट में उन्होंने पत्रकार से यह तक कह दिया कि उनके जैसे जितने न्यूज एंकर्स हैं, वे सब बीजेपी के प्रवक्ता हैं। किसान नेता ने यह भी कहा कि उन्हें सवाल पूछने का अधिकार नहीं है। हालांकि, एंकर ने भी दो टूक जवाब दिया और कहा कि उनके लिए देश सबसे पहले और बड़ा है, इसलिए टिकैत इधर-उधर की बात न करें।

दरअसल, बातचीत के दौरान एक पल ऐसा आया, जब एंकर ने पूछा था- कृषि कानूनों पर कुछ तो रास्ता होगा? आप किसानों का नेतृत्व कर रहे हैं। टिकैत बोले- हमने तो सुझाया है कि कानून वापस ले लिए जाएं। एमएसपी पर कानून बना दिए जाए। 200 करोड़ रुपए का सिर्फ यूपी के रामपुर में घोटाला हुआ। जांच कर लो। किसान की लूट है…इसलिए एमएसपी पर कानून नहीं बना रहे हैं। टिकैत के मुताबिक, “सरकार कोई पट्टा लेकर थोड़ी न आई है। सरकार जब चाहेगी, तब हल निकलेगा। घर तो हमें भी नहीं जाना है।”

तंज कसते वह हुए बोले, “क्या सुधारे हैं…आधे रेट में फसल बेच दी, हालात सुधारे दिए? मंडियां बंद कर दीं…बिहार बर्बाद कर दिया। एक बाद बताओ कि आप तो ज्ञानी हो। पढ़े लिखे हो। देश में संसद बड़ी है या उद्योगपति? कौन बड़ा है?” एंकर ने जवाब दिया- यह आप अलग बहस में लेकर जा रहे हैं। हिंदुस्तान बड़ा है। सीधी सी बात है और इस देश में किसान की क्या अहमियत है, यह भी हम जानते हैं।

आगे टिकैत ने कहा, “न-न। ऐसे नहीं। आप स्पष्ट जवाब दें। आपको डर लगा रहा है। आप सारे ऐंकर बीजेपी के प्रवक्ता है।” एंकर ने दो टूक टोका- आप इस तरह के आरोप लगाकर खुद की बातों में खो जाते हैं। मैं सवाल पूछूंगी। सवाल पूछना मेरा फर्ज है।

वह टिकैत से बोलीं कि वह इधर-उधर की बात न करें। हालांकि, बाद में बहस के गर्माए माहौल के बीच टिकैत ने फोन काट दिया। एंकर बोलीं- इधर उधर की बात न करें। सीधे मुद्दे पर बात रखें। भड़कते हुए एक दो सवाल के जवाब देने के बाद टिकैत ने बाद में फोन काट दिया।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.