ताज़ा खबर
 

बंगाल में विकास और नरम हिंदुत्‍व के सहारे BJP, PM मोदी की रैलियों में भी कटौती

पार्टी राज्‍य के आला नेताओं के लड़ने लायक सीटों की भी तलाश कर रही है। इन नेताओं में राहुल सिंहा, सामि‍क भट्टाचार्य, रुपा गांगुली, लोकेट चटर्जी और रितेश तिवारी शामिल हैं।

Author नई दिल्‍ली | February 10, 2016 10:52 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी केवल 7 से 10 रैलियां करेंगे। इस दौरान वे नेगेटिव प्रचार से बचेंगे। भाजपा सूत्रों के अनुसार बिहार में मिली हार के बाद पार्टी ने यह रणनीति बनार्इ है। इन चुनावों में पार्टी की रणनीति का आधार विकास होगा। इसमें सत्‍ता में आने पर पार्टी राज्‍य के लिए क्‍या करेगी और केन्‍द्र सरकार ने अब तक विकास के लिए कौनसे कदम उठाएं है, उनकी जानकारी दी जाएगी। हालांकि बिहार की तरह ही बंगाल में भी भाजपा सीएम प्रत्‍याशी का एलान नहीं करेगी।

पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह भी ज्‍यादा रैलियां नहीं करेंगे। भाजपा नेता ने बताया कि, ‘पार्टी राज्‍य के नेताओं को प्राथमिकता देगी। साथ ही पार्टी अध्‍यक्ष के लिए भाषा भी एक दिक्‍कत होगी।’ बंगाल भाजपा ने केन्‍द्रीय मंत्री सुषमा स्‍वराज और स्‍मृति ईरानी की ज्‍यादा रैलियों की मांग की है। ये दोनों नेता बंगाली बोल सकती हैं। साथ ही वित्‍त मंत्री अरुण जेटली और रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मांग की है कि वे मध्‍यम वर्ग को लुभाने वाली घोषणाएं करें। प्रचार के दौरान तृणमूल कांग्रेस सरकार की मुस्लिमों के प्रति तुष्‍टीकरण नीति को भी उठाया जाएगा।

पीएम मोदी 21 फरवरी को कोलकाता में गोदिया मठ के शताब्‍दी समारोह में शामिल होने के लिए जाएंगे। पार्टी को उम्‍मीद है कि इससे हिंदुओं में सही संदेश जाएगा । पूरे बंगाल में गोदिया मठ के 75 लाख अनुयायी हैं। भाजपा नेताओं का कहना है कि वे रामकृष्‍ण मिशन के अनुयायी तक पहुंच बढ़ाकर नरम हिंदुत्‍व का कार्ड खेलेंगे। रामकृष्‍ण मिशन के बंगाल में एक करोड़ अनुयायी पार्टी का फोकस ममता बनर्जी सरकार की कथित नाकामियों पर ही होगा लेकिन इन्‍हें सकारात्‍मक स्‍लोगन के जरिए ही उठाया जाएगा।

Read Also: भाजपा ने सीखा सबक, असम में नहीं करेगी नेगेटिव प्रचार, भेजेगी मंत्रियों की फौज

पश्चिम बंगाल के इंचार्ज सिद्धार्थना‍थ सिंह ने बताया कि, ‘हम आपदा प्रभावित कृषि इलाकों में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का प्रचार करेंगे। वहीं छोटे व्‍या‍पारियों के बीच मुद्रा बैंक को प्रचारित करेंगे।’ एक भाजपा नेता ने बताया कि बंगाल में पार्टी की थीम ‘अब की बार अधिकार’ होगी। अन्‍य नारों में ‘ मां, माटी, मानुष सुरक्षित नहीं हैं।’ शामिल है। 2014 लोकसभा चुनावों में भाजपा 24 विधानसभा क्षेत्रों में आगे रही थी जबकि 28 में दूसरे पायदान पर रही थी। वहीं पार्टी राज्‍य के आला नेताओं के लड़ने लायक सीटों की भी तलाश कर रही है। इन नेताओं में राहुल सिंहा, सामि‍क भट्टाचार्य, रुपा गांगुली, लोकेट चटर्जी और रितेश तिवारी शामिल हैं। भाजपा ने चुनाव आयोग से चुनाव के दौरान सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ाने की अपील की है। बंगाल में 77 हजार बूथ हैं।

Read Alsoममता के राज में राष्ट्र राष्ट्र विरोधी तत्वों का गढ़ बन गया है बंगाल: अमित शाह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App