ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत मुस्लिमों को धोखा देने वालों के लिए सबक: असदुद्दीन ओवैसी

उत्तराखंड और ओडीशा (स्थानीय निकाय चुनाव) में धर्मनिरपेक्ष ताकतें क्यों हार गईं, जहां मेरी पार्टी ने उम्मीदवार खड़े नहीं किए।

Author किशनगंज (बिहार) | March 20, 2017 6:18 AM
Asaduddin Owaisi , Asaduddin Owaisi Statement, India, Hindi, Hindu, Hindustan, Hindi, Hindu and Hindustan, govern india, indian govern, Basis of Hindi, Hindu and Hindustan, Asaduddin Owaisi Tweet, National Newsहैदराबाद से सांसद असदुद्दीन औवेसी। (File Photo)
आॅल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुसलमीन (एआइएमआइएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत उन लोगों के लिए सबक है, जिन्होंने मुसलिमों को पिछले 70 वर्षों से ‘धोखा’ दिया। ओवैसी ने किशनगंज का दौरा करने के बाद यहां पार्टी कार्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में उन लोगों से सवाल किया, जो उन पर और उनकी पार्टी पर चुनावों में भाजपा की मदद करने का आरोप लगाते हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं उन लोगों से सवाल करना चाहता हूं जो धर्मनिरपेक्षता पर उपदेश देते हैं कि उत्तराखंड और ओडीशा (स्थानीय निकाय चुनाव) में धर्मनिरपेक्ष ताकतें क्यों हार गईं, जहां मेरी पार्टी ने उम्मीदवार खड़े नहीं किए।’
उन पार्टियों के लिए, जो मुस्लिम हितों के लिए लड़ने का दावा करते हैं, उन्होंने कहा कि सच्चर कमेटी रिपोर्ट इन पार्टियों के लिए मुसलिमों की स्थिति उजागर करती है। योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर हैदराबाद से लोकसभा सांसद ओवैसी ने कहा कि जो भी मुख्यमंत्री बने उसे देश के संविधान और कानूनों का पालन करना होगा।
उन्होंने कहा कि एक दिन लोग उनकी पार्टी को वोट करेंगे। ओवैसी के साथ पार्टी की बिहार इकाई के प्रमुख अख्तरुल इमान एवं अन्य भी थे।  उन्होंने कहा कि सीमांचल उनका दूसर घर है। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान उन्होंने क्षेत्र का दौरा नहीं किया, इसके बजाय बाढ़ या अन्य आपदाओं के समय सीमांचल के लोगों के साथ खड़े रहे। उन्होंने जोर देकर कहा कि सीमांचल में बाढ़ का मुद्दा किशनगंज के सांसद नहीं बल्कि उन्होंने पहली बार लोकसभा में उठाया था।
.

Next Stories
1 पांच महीने बाद मणिपुर में खत्म हुई आर्थिक नाकेबंदी, नागा काउंसिल ने किया एलान
2 आरक्षण की मांग कर रहे जाट अब नहीं घेरेंगे संसद, हरियाणा सीएम से वार्ता के बाद किया फैसला
3 जाट आरक्षण आंदोलन: फतेहाबाद में पुलिस से भिड़े दिल्ली कूच कर रहे प्रदर्शनकारी, दो बसें फूंकी, कई घायल
आज का राशिफल
X