ताज़ा खबर
 

दो साल पहले देश के 71% हिस्से पर था बीजेपी का शासन, महाराष्ट्र हारने के बाद रह गया 40%, हाथ से निकले 5 बड़े राज्य

बीते महीने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे पार्टी बनकर तो उभरी लेकिन शिवसेना के गठबंधन से अलग होने जाने के बाद वह अकेली पड़ गई। नतीजन एक और राज्य से बीजेपी का सूपड़ा साफ हो गया। साल 2017 के बाद लगातार बीजेपा का जादू कम होता जा रहा है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीजेपी अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह का जादू कम होता दिख रहा है। बीते दो साल में पांच राज्यों में चुनाव के बाद बीजेपी को लगातार नुकसान हो रहा है। 2017 में देश के 71 प्रतिशत क्षेत्रफल पर बीजेपी सत्ता पर काबिज थी जो 2019 में 40 प्रतिशत (महाराष्ट्र चुनाव के बाद) तक सिमटकर रह गया है। बीते दो साल के दौरान बीजेपी के हाथ से पांच बड़े राज्य निकल गए। इनमें हिंदी बेल्ट के राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश जैसे राज्य शामिल है।

इंडिया टुडे डेटा इंटेलिजेंस यूनिट (डीआईयू) की रिपोर्ट के मुताबिक अब बीजेपी की सत्ता सिमटकर देश के 40 फीसदी हिस्से में रह गई है। पंजाब, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ के बाद महाराष्ट्र से भी बीजेपी की सत्ता गई। मालूम हो कि ये सभी देश के सबसे ज्यादा विधानसभा वाले राज्यों में शामिल हैं।

बीते महीने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे पार्टी बनकर तो उभरी लेकिन शिवसेना के गठबंधन से अलग होने जाने के बाद वह अकेली पड़ गई। नतीजन एक और राज्य से बीजेपी का सूपड़ा साफ हो गया। साल 2017 के बाद लगातार बीजेपा का जादू कम होता जा रहा है।

हालांकि अगर विधानसभा चुनाव का लोकसभा चुनाव से तुलना की जाए तो परिणाम इसके उल्ट हैं। 2014 में मोदी लहर 2019 में भी जारी रही। 2014 में जिस तरह बीजेपी ने खुद के दम पर बहुमत हासिल किया ठीक उसी तरह 2019 में भी हासिल किया। बीजेपी ने 2019 के चुनाव में 303 सीटों पर जीत हासिल कर दिखा दिया कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी को टक्कर देने की हिमाकत अभी किसी में नहीं। इन दोनों चुनावों से साफ है कि बीजेपी का राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार हुआ है।

लगातार सिकुड़ रहा है भाजपा का ग्राफ: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि देश में भाजपा का ‘ग्राफ’ लगातार सिकुड़ रहा है और वह दिन दूर नहीं जब उसकी विचारधारा को देश भर में खारिज कर दिया जाएगा। गहलोत ने एक मीडिया घराने के ‘ग्राफ’ के साथ ट्वीटर पर यह बात लिखी है।

‘सिमटती भाजपा’ शीर्षक वाले इस ‘ग्राफ’ में दिखाया गया है कि दिसंबर 2017 में देश में भाजपा शासित इलाका 71 प्रतिशत था जो अब घटकर 40 प्रतिशत रह गया है। वहीं गैर भाजपा दलों से शासित इलाका अनुपात में बढ़ा है। गहलोत ने लिखा है, ‘कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वालों के लिए यह तस्वीर आईने की तरह है, जनता लगातार स्पष्ट सन्देश दे रही है, विभाजनकारी और नकारात्मक सोच को नकार रही है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘हम भी तो देश के नागरिक हैं, हमारे भी कुछ अधिकार हैं, पर न पानी मिल रहा, न टॉयलेट’ ; CRPF जवान ने चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी
2 नरेंद्र मोदी बोले थे- नहीं कर पाऊंगा माफ, फिर भी नाथूराम गोडसे पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा, संसद में कहा- देशभक्तों का…
3 Mahrashtra: ‘100 सुनार की, एक शरद पवार की’, शत्रुघ्न सिन्हा का BJP पर निशाना
ये पढ़ा क्या?
X