ताज़ा खबर
 

BJP के ऐड पर चुनाव आयोग का एक्‍शन, कहा- हमारी मंजूरी के बिना नहीं छपेगा कोई विज्ञापन

विज्ञापन में बीफ को लेकर लालू यादव, रघुवंश प्रसाद सिंह और सिद्धारमैया के बयान भी छापे गए हैं।

Author नई दिल्ली/ पटना | November 4, 2015 6:52 PM

केंद्रीय चुनाव आयोग ने कहा है कि बिहार में 5 नवंबर के अखबार में कोई भी राजनीतिक विज्ञापन बिना उसकी मंजूरी के नहीं छपेगा। यह मंजूरी चुनाव आयोग की ओर से बनाई गई उच्‍च अधिकार प्राप्‍त मीडिया कमेटी से लेनी होगी। आयोग ने यह फैसला 4 नवंबर को भाजपा के एक विज्ञापन पर विवाद होने के बाद लिया गया है।

विवादित विज्ञापन: बिहार विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से एक दिन पहले बुधवार (4 नवंबर) को भाजपा ने गाय को मुद्दा बनाया। पार्टी की ओर से सभी अखबारों में ऐड छपवाया गया। इसमें नीतीश कुमार पर गौहत्‍या के मुद्दे पर चुप्‍पी साधने का आरोप लगाया गया है। विज्ञापन में एक गाय को पुचकारती महिला की तस्‍वीर है और लिखा गया है, ‘मुख्‍यमंत्री जी आपके साथी हर भारतीय की पूज्‍य गाय का अपमान बार-बार करते रहे और आप चुप रहे।’

विज्ञापन में बीफ को लेकर लालू यादव, रघुवंश प्रसाद सिंह और सिद्धारमैया के बयान भी छापे गए हैं। ये नीतीश के नेतृत्‍व वाले महागठबंधन में शामिल राजद और कांग्रेस के नेता हैं। नीतीश से पूछा गया है कि क्‍या बीफ पर इन नेताओं के बयानों से वह सहमत हैं? नीचे लिखा है- जवाब नहीं तो वोट नहीं।

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर पूछा है कि क्‍या इस विज्ञापन को भाजपा के आला नेताओं ने हरी झंडी दी है या फिर यह उनके छद्म लोगों ने छपवाया है? बता दें कि केजरीवाल ने नीतीश के समर्थन में अपील जारी की है और लोगों से उन्‍हें दोबारा चुनने के लिए कहा है।

Also Read: 

बीजेपी उम्‍मीदवार ने कहा- मुझे लोगों ने रुला दिया, हूं पक्‍का मुसलमान, बीफ खाने से कोई रोक नहीं सकता

बिहार चुनाव: भाजपा उम्‍मीदवार ने कहा, एमएलए बना तो मुसलिमों पर लगाऊंगा लगाम 

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर भी जुड़ें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App