ताज़ा खबर
 

राजनीतिक हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के लिए जेडी नड्डा ने किया ‘तर्पण’

सामूहिक तर्पण के बाद जेपी नड्डा ने मीडिया से बातचीत में कहा, "पश्चिम बंगाल में टीएमसी सरकार में ‘जंगल राज’ और आतंक का राज है। कानून का शासन न होने के कारण यहां ‘गुंडा राज’ है।"

Author Published on: September 28, 2019 2:26 PM
पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा के दौरान मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं का पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तर्पण किया। (फोटो क्रेडिट/ANI ट्विटर हैंडल)

पश्चिम बंगाल में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं का पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तर्पण किया। पिछले कुछ सालों के दौरान राजनीतिक हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के लिए शनिवार को यह कार्यक्रम रखा गया था। दरअसल, ‘तर्पण’ पितृ पक्ष में की जाने वाली एक रस्म है, जिसमें पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए उन्हें जल अर्पित किया जाता है। तर्पण महालय या पितृ पक्ष में किया जाता है, जिसके बाद दुर्गापूजा उत्सव की शुरुआत होती है।

बीजेपी के राज्य महासचिव सयानतन बसु ने बताया, “दिवंगत 80 भाजपा कार्यकर्ताओं का तर्पण बाघबाजार घाट में किया गया। इस दौरान दिवंगत भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवार के सदस्य और पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे।” तर्पण के दौरान राज्य में पार्टी अध्यक्ष दिलीप घोष और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे। इस मौके पर बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष ने पश्चिम बंगाल की सरकार पर हमला बोला और प्रदेश की व्यवस्था को ‘जंगल राज’ करार दिया। नड्डा ने कहा कि राज्य में तृणमूल कांग्रेस (TMC) का वक्त खत्म हो गया है। उन्होंने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में ‘मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं’ के परिवार के सदस्यों को न्याय नहीं मिल रहा है।

सामूहिक तर्पण के बाद जेपी नड्डा ने मीडिया से बातचीत में कहा, “पश्चिम बंगाल में टीएमसी सरकार में ‘जंगल राज’ और आतंक का राज है। कानून का शासन न होने के कारण यहां ‘गुंडा राज’ है। लेकिन, यह ‘जंगल राज’ जल्द ही खत्म हो जाएगा क्योंकि टीएमसी सरकार का समय खत्म हो गया है।” उन्होंने कहा कि बनर्जी पश्चिम बंगाल में तेजी से अपना राजनीतिक आधार खो रही हैं। मुख्यमंत्री होने के नाते उनके पास कोई दूरदृष्टि नहीं है।

इस दौरान नड्डा ने प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से सवालिया लहजे में पूछा, “क्या उनके लिए वोट बैंक, सत्ता और राजनीतिक राष्ट्रहित से बड़ी है? कुर्सी राष्ट्र से अहम कैसे हो सकती है। इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी के जम्मू- कश्मीर के संदर्भ में दिए बयान का भी जिक्र किया और कहा कि उनके बयान का इस्तेमाल पाकिस्तान ने यूएन में किया। नड्डा ने कश्मीर की पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी को लोगों को जानबूझकर भटकाने का आरोप लगाया। उन्होंने इस दरौन कहा कि कश्मीर के लिए अनुच्छेद 370 का प्रावधान परमानेंट नहीं बल्कि अस्थाई था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Kerala Karunya Lottery KR-415 Results: यहां देखें 1 करोड़ रुपए तक जीतने वाले विजेताओं की पूरी लिस्ट
2 LPG Cylinders की सप्लाई में दिक्कत, Indian Oil, HP, Bharat पेट्रोलियम उठा सकती हैं यह कदम
3 IRCTC INDIAN RAILWAYS: यात्रियों को फेस्टिव सीजन का तोहफा, इस फैसले से बढ़ जाएंगी 50 लाख सीटें