ताज़ा खबर
 

Jharkhand Election Results 2019: 28 आदिवासी सीटों में से केवल दो जीत पाई बीजेपी

Jharkhand Assembly Election/Chunav Results 2019: झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेतृत्व में बने झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन ने 47 सीटें जीत कर स्पष्ट बहुमत प्राप्त किया।

भाजपा को जनजातीय सीटों पर भारी नुकसान हुआ है। फोटो सोर्स – PTI

Jharkhand Election/Chunav Results 2019: झारखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। पार्टी 81 सीटों में से इस बार सिर्फ 25 सीटें जीत पाई। मुख्यमंत्री रघुवर दास और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा चुनाव हार गए। राज्य की 28 आदिवासी सीटों में से पार्टी को महज 2 सीटों पर ही जीत हासिल हुई।  पार्टी की हार में गैर आदिवासी नीतियों की भी अहम भूमिका रही। राज्य की 28 एसटी सीट में भाजपा महज दो सीट खूंटी और तोरपा ही जीत सकी। इन सीटों पर भी पार्टी को वोटों के बंटवारे का फायदा मिला।

वहीं, आदिवासी सीटें जीतने के मामले में झारखंड मुक्ति मोर्चा पहले स्थान पर रही। पार्टी ने 19 सीटों पर जीत हासिल की। वहीं, कांग्रेस ने 6 आदिवासी सीटों पर जीत हासिल की। बाबूलाल मरांडी की पार्टी ने झारखंड विकास मोर्चा-पी भी एक सीट जीतने में सफल रही। संथाल परगना में झारखंड मुक्ति मोर्चा ने एक सुरक्षित सीट और सात एसटी सीटें जीतने में कामयाब रही। भाजपा ने संथाल परगना में सभी आदिवासी सीटें हार गईं लेकिन पार्टी देवघर सुरक्षित सीट जीतने में सफल रही। कोल्हन क्षेत्र की 10 सुरक्षित सीटों में से पार्टी 9 सीट हार गई।

आदिवासी सीटों पर वोट शेयर की बात करें तो झामुमो ने 19 सीटों पर 34.2 फीसदी मत हासिल किए। वहीं 6 आदिवासी बाहुल्य सीटे जीतने वाली कांग्रेस के मतों का प्रतिशत 8.8 रहा। दो सीटें जीतने वाली भाजपा का मत प्रतिशत 33.5 रहा। एक सीट जीतने वाली झारखंड विकास मोर्चा को 5.4 फीसदी मत मिले। वहीं आजसू व अन्य दलों ने मिलकर 18.1 फीसदी मत हासिल किए।

हालांकि, इतने मत हासिल करने के बाद भी ये दल एक भी सीट जीतने में कामयाब नहीं हो सके। मालूम हो कि राज्य में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेतृत्व में बने झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन ने 47 सीटें जीत कर स्पष्ट बहुमत प्राप्त किया। झारखंड विकास मोर्चा ने भी बड़ी उम्मीदों के साथ सबसे अधिक 81 की 81 सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे थे। लेकिन उसे अपने सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी और विधायक दल के नेता प्रदीप यादव के अलावा सिर्फ एक और सीट पर जीत हासिल हुई और वह शेष 78 सीटों पर हार गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पूरे उत्तर भारत में शीत लहर डाल सकती है क्रिसमस और नए साल में बाधा, पाकिस्तान-अफगानिस्तान की ठंडी हवाओं से उत्तर भारत में बढ़ी सर्दी
2 बीजेपी सांसद ने उड़ाया CAA विरोधियों का मजाक, कहा- गंवार और पंचरवाले हैं खिलाफ
3 CAA प्रोटेस्ट के दौरान हिंसा में छात्र ने गंवाया हाथ, AMU ने नौकरी दी तो उठने लगे सवाल
ये पढ़ा क्या?
X