UP Polls: BJP 350+ सीटें जीतेगी- मंत्री ने कहा, प्रवक्ता बोले 300+; मायावती बोलीं- BSP की नकल कर रही भाजपा

इसी बीच, शनिवार को बीजेपी के प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने “न्यूज 24” पर एक डिबेट में बताया, “300 से ज्यादा सीटों के साथ उत्तर प्रदेश में भाजपा की ही सरकार बनेगी।”

yogi adityanath, jp nadda, bjp
यूपी के मुख्यमंत्री और बीजेपी चीफ जेपी नड्डा को एक कार्यक्रम के दौरान जानकारी देते पार्टी पदाधिकारी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः विशाल श्रीवास्तव)

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) 350 से अधिक सीटें जीतेगी। यह दावा सूबे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार में कबीना मंत्री ब्रजेश पाठक ने किया है।

उन्होंने ABP News-C Voter Survey आने के बाद कहा, “जैसे-जैसे चुनाव पास आएगा…जब दोबारा सर्वे होगा, तब भाजपा उसमें 350 से अधिक सीटें जीतती दिखेगी। हमारी और केंद्र सरकार की जो कार्य योजना थी, उनसे जनता को सीधा लाभ मिल रहा है। हम सीधे उनसे जुड़े हैं। कोरोना काल हो या फिर चाहे सामान्य परिस्थितियां, केवल बीजेपी के कार्यकर्ता ही बूथ से प्रदेश तक सभी लोगों को साथ लेकर काम करता रहा है। अभी साढ़े चार साल बीते हैं, पर अगले सर्वे में हम 350 के आंकड़े को पार करते नजर आएंगे।”

पाठक ने आगे हिंदी चैनल को बताया, “मुझे लगता है कि मुख्य विपक्षी कोई है ही नहीं। सपा की जो स्थिति (100 से ऊपर) सर्वे में दिख रही है, वह चुनाव नजदीक आते-आते 48-50 पर आकर टिक जाएगा। बीजेपी सभी जाति-धर्मों को लेकर आगे बढ़ती है।” इसी बीच, शनिवार को बीजेपी के प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने “न्यूज 24” पर एक डिबेट में बताया, “300 से ज्यादा सीटों के साथ उत्तर प्रदेश में भाजपा की ही सरकार बनेगी।”

‘हमारी नकल कर रही भाजपा’: उधर, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने कहा कि पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की कामयाबी से भारतीय जनता पार्टी के लोग काफी दुखी हैं। अब वे बसपा की नकल कर अपनी पार्टी के ऐसे ही सम्मेलन आयोजित करने जा रहे हैं। बता दें कि बसपा 22 जुलाई से यूपी के के कई जिलों में प्रबुद्ध वर्ग विचार गोष्ठी का आयोजन कर रही हैं, जिसके पहले चरण का समापन सात सितंबर को होगा, जबकि बीजेपी ने भी पांच सितंबर से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में प्रबुद्ध सम्मेलन आयोजित करने का ऐलान किया है।

प्रायोजित, शरारतपूर्ण है सर्वे- मायावतीः यही नहीं, मायावती ने यह भी साफ किया कि वह एबीपी-सी वोटर सर्वे से काफी खफा हैं। वह बोलीं, “एक चैनल द्वारा प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने पर भाजपा का वोट 40 प्रतिशत से अधिक दिखाया गया है। चुनाव पूर्व सर्वे पूरी तरह से प्रायोजित, शरारतपूर्ण व भ्रमित करने वाला लगता हैं। इस सर्वे का उदेश्य भाजपा को मजबूत दिखाने से ज्यादा बसपा के लोगो का मनोबल गिराना लगता हैं, जबकि बसपा के लोग पहले से इस प्रकार के षडयंत्रों का सामना करने के लिये हमेशा तैयार रहते हैं।”

यूपी पर क्या कहता है ABP C Voter Survey?: उत्तर प्रदेश में 403 विस सीटें हैं। चुनावी सर्वे की मानें तो अगर आज चुनाव हों तब बीजेपी+ (गठबंधन के साथ) को 259 से 269 सीटें मिल सकती हैं। अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) की झोली में 109 से 117 सीटें गिरने की संभावना है, जबकि मायावती की बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पाले में 12-16 सीटें जाने के आसार हैं। वहीं, कांग्रेस को तीन से सात सीटों से ही संतोष करना पड़ सकता है।

CM के लिए अखिलेश 28% की पसंद: पसंदीदा सीएम के मामले में सर्वे में योगी को सर्वाधिक लोगों ने पहली पसंद बताया। 40 फीसदी लोग उन्हें सीएम के तौर पर देखना चाहते हैं, जबकि 28 फीसदी ने अखिलेश, 15 फीसदी ने मायावती, तीन प्रतिशत ने प्रियंका गांधी वाड्रा, दो फीसदी ने जयंत चौधरी और 12 फीसदी ने अन्य को इस मामले में अपनी पसंद बताया। वोट प्रतिशत के लिहाज से देखें तो सर्वे बताता है कि बीजेपी+ को 42 फीसदी, सपा+ को 30 प्रतिशत, बसपा को 16 फीसदी, कांग्रेस को पांच फीसदी और अन्य के खाते में सात प्रतिशत वोट जा सकते हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट