ताज़ा खबर
 

हरियाणा विधानसभा चुनाव में कश्मीर को मुद्दा बनाएगी भाजपा

बराला ने कश्मीर से धारा 370 हटाने के मुद्दे पर कांग्रेस की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि वह इस मुद्दे पर सवाल उठा रही है।

Author Published on: August 13, 2019 6:35 AM
सांकेतिक तस्वीर।

हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने को एक बड़े चुनावी मुद्दे के तौर पर पेश करने की तैयारी में है। पार्टी का मानना है कि केंद्र में उसकी अगुआई वाली हुकूमत ने एक ऐतिहासिक काम किया है और हरियाणा से इसका खास तौर पर ताल्लुक इसलिए है क्योंकि कश्मीर में सीमाओं की रक्षा करते या आतंकवादियों से लोहा लेते बलिदान हो जाने वाले जवानों में हरियाणा के रणबांकुरों की तादाद सबसे ज्यादा रही है। भाजपा नेताओं का मानना है कि कश्मीर में आतंकवाद के दर्द को हरियाणा के लोगों ने भी झेला है।

राजधानी स्थित हरियाणा भवन में सोमवार को संवाददाताओं से बातचीत में सूबे के भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि कश्मीर में सबसे ज्यादा संख्या में शहादत देने वाले जवान हरियाणा के हैं। उन्होंने कहा कि आज समूचे हरियाणा में कश्मीर से धारा 370 को हटाए जाने से खुशी की लहर है। प्रदेश के हर कोने और हर तबके के लोग केंद्र सरकार के इस फैसले के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता की ओर से वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का धन्यवाद करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि आज कश्मीर में चौतरफा सुख शांति का माहौल है। उन्होंने दावा किया कि उनकी खुद भी कश्मीर घाटी के कुछ छात्रों से बातचीत हुई और वे केंद्र सरकार के इस फैसले से बेहद खुश हैं।

बराला ने कश्मीर से धारा 370 हटाने के मुद्दे पर कांग्रेस की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि वह इस मुद्दे पर सवाल उठा रही है। उन्होंने कहा कि अपने न्यूनतम स्तर पर पहुंच जाने के बावजूद कांग्रेस बाज आने का नाम नहीं ले रही और वह लगातार सांप्रदायिकता की भाषा बोल रही है। पार्टी के नेता लगातार गलत बयान दे रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस का नाम लिए बगैर कहा कि पूर्व की सरकारों ने कभी भी कश्मीर से धारा 370 को हटाने का प्रयास नहीं किया और आज जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह की जोड़ी ने यह ऐतिहासिक काम किया है तो कांग्रेस के नेता इस फैसले पर सवाल उठाने का काम कर रहे हैं। यह अलग बात है कि इसी पार्टी के हरियाणा से ताल्लुक रखने वाले कुछ नेताओं के साथ साथ राष्टÑीय स्तर पर भी कुछ कांग्रेसी नेताओं ने केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 डीटीसी ने रद्द की दिल्ली-लाहौर बस सेवा
2 एसजीआरसी की सिफारिशें नहीं मानी तो कॉलेज की मान्यता होगी खत्म
3 IRCTC: रेलवे ने263 ट्रेन कर दीं रद्द, 100 के रूट भी बदले