scorecardresearch

रुख पर नहीं पिघलेंगे, समूचे देश में BJP लागू करेगी CAA- बोले असम के मंत्री

शुक्रवार को असम के मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि CAA कानून के प्रति भारतीय जनता पार्टी वैचारिक रूप से प्रतिबद्ध है।

Himanta Biswa Sarma, assam, ulfa, election commission
भाजपा नेता हेमंत बिस्वा सरमा। (Indian Express)
इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में शुक्रवार को असम के मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि CAA कानून के प्रति भारतीय जनता पार्टी वैचारिक रूप से प्रतिबद्ध है। शर्मा के इस बयान से सीएए को लेकर राजनीतिक बहस फिर से छिड़ गई है। हेमंत बिस्वा ने कहा कि यह कानून पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों पर लागू होगा। हेमंत बिस्वा ने कहा कि कानून को लेकर पार्टी की सोच में कोई बदलाव नहीं आया है। बीजेपी CAA को लेकर प्रतिबद्ध है। पूरे देश में सीएए कानून लागू होगा। भले ही हम जीतते हैं या हारते हैं। पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए हिंदुओं और अल्पसंख्यकों का हम समर्थन करेंगे।

वहीं इस पर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि असम के लोग इस कानून के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि अगर यह कानून लागू होता तो असम के बहुत से लोगों से उनकी नागरिकता छिन जाएगी। सुरजेवाला ने कहा कि हम जानते हैं कि सीएए कानून लागू नहीं किया जाएगा। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि असम और बंगाल में चुनाव के बाद इसे लागू किया जाएगा। बीजेपी चाहती है कि इसको लेकर ध्रुवीकरण हो जबकि शाह के इस बयान से उलट असम सीएम के कई बयान हैं। बीजेपी मिलकर देश के लोगों को बेवकूफ बना रही है।

मालूम हो कि नागरिकता संशोधन कानून को संसद ने दिसंबर 2019 में पारित किया था। इससे पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के अल्पसंख्यक जो कि 2014 में या इससे से पहले भारत आए हैं को भारत की नागरिकता मिलेगी। जैसे ही पांच राज्यों में चुनाव करीब आ गए हैं। सीएए को लेकर बहस गर्म हो गई है।

हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि देश के लोगों को अभी भी मोदी जी पर यकीन है भले ही कितना ही विरोध हो। उन्होंने कहा कि बीजेपी की मौजूदगी देश के हर एक हिस्से में है। हमें भरोसा है कि बीजेपी बंगाल में भी सरकार बनाएगी।

वहीं, सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा पांच राज्यों में से तीन राज्यों में चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं है। पूर्वोत्तर में दलबदल के जरिए बीजेपी का विस्तार हुआ।  भारत के लोग बेचे जाने के लिए नहीं हैं। बीजेपी हर बार विधायक नहीं खरीद सकती है और जीत नहीं सकती है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट