ताज़ा खबर
 

नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर ये करेगी बीजेपी

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस आलोचना को खारिज कर दिया कि नोटबंदी से कालेधन का खुलासा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि ये बातें उन लोगों ने की हैं जो नोटबंदी के उद्देश्यों को नहीं समझे।

Author नई दिल्ली | October 25, 2017 21:01 pm
भारतीय जनता पार्टी का झंडा। (फाइल फोटो)

नोटबंदी को एक साल पूरा होने के मौके पर विपक्षी दलों के ‘काला दिवस’ मनाने के फैसले के बाद बुधवार को भाजपा ने कहा कि आगामी आठ नवंबर को भाजपा ‘कालाधन विरोधी दिवस’ मनाएगी। भाजपा की ओर से मोर्चा संभालते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी के खिलाफ रुख को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा तथा आरोप लगाया कि सत्ता में रहते हुए कांग्रेस ने कालेधन के विरूद्ध कोई कदम नहीं उठाया। जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा के लिए यह प्राथमिकता वाला कार्यक्रम होगा और पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री इसमें शामिल होंगे।

उन्होंने कालेधन की समस्या से निपटने के लिए मोदी सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का उल्लेख किया। जेटली ने कहा, “आठ नवंबर को कालाधन विरोधी दिवस मनाया जाएगा।’’ उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री और भाजपा के पदाधिकारी आठ नवंबर तक सरकार के निर्णय के पक्ष में जनमत तैयार करेंगे।” वित्त मंत्री ने इस आलोचना को खारिज कर दिया कि नोटबंदी से कालेधन का खुलासा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि यह बातें उन लोगों ने की हैं जो नोटबंदी के उद्देश्यों को नहीं समझे।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी की वजह से तीन मकसद पूरे हुए हैं। नगदी की अर्थव्यवस्था नियंत्रित हुई, डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा मिला और कर के आधार का दायरा बढ़ा। भाजपा ने यह फैसला ऐसे समय किया है जब करीब 18 राजनीतिक दलों ने आठ नवंबर को ‘काला दिवस’ मनाने की घोषणा की है। विपक्ष का दावा है कि नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था एवं नौकरियों को नुकसान पहुंचा है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने मंगलवार को संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि पिछले साल आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1000 रूपए और 500 रूपए के नोटों को प्रचलन से बंद किए जाने की घोषणा की थी। विपक्ष ने तभी नोटबंदी के फैसले के कारण अर्थव्यवस्था की हालत बुरी होने, बेरोजगारी बढ़ने और सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) कम होने की आशंका जताई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App