ताज़ा खबर
 

भाजपा विधायक ने कहा, मांओं के ‘आलस’ से बढ़ी मैगी की मांग

देश में मैगी सरीखे खाद्य पदार्थों के बढ़ते उपभोग के पीछे नये जमाने की माताओं के कथित आलस को जिम्मेदार ठहराकर स्थानीय भाजपा विधायक ऊषा ठाकुर महिला कांग्रेस के निशाने पर आ गयी हैं...

Author June 7, 2015 5:16 PM
मैगी पर पूरा देश पिल पड़ा- गोया यह इस देश का सबसे बड़ा मुद्दा हो। और मणिपुर- उसे लेकर कुछ भावुक-सी बातें, बमुश्किल एकाध बहसें। (फ़ोटो -पीटीआई)

देश में मैगी सरीखे खाद्य पदार्थों के बढ़ते उपभोग के पीछे नये जमाने की माताओं के कथित आलस को जिम्मेदार ठहराकर स्थानीय भाजपा विधायक ऊषा ठाकुर महिला कांग्रेस के निशाने पर आ गयी हैं।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और महिला कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई की पूर्व अध्यक्ष अर्चना जायसवाल ने कहा, ‘भाजपा विधायक ने भारतीय माताओं को आलसी कहकर उनका अपमान किया है। उन्हें अपने इस बयान के लिये देश की माताओं से माफी मांगनी चाहिये।’

उन्होंने कहा, ‘मैगी को मांओं के आलस से जोड़ना सरासर बेतुकी बात है। इस सिलसिले में भाजपा विधायक का बयान हास्यास्पद है।’

ऊषा ने कल अपने बयान में कहा था कि मैगी पर प्रतिबंध लगाकर सरकार ने जनता की सेहत के लिहाज के अच्छा कदम उठाया है। उन्होंने मैगी सरीखे खाद्य पदार्थों के बढ़ते उपभोग के पीछे नये जमाने की मांओं के कथित आलस्य को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था, ‘पता नहीं क्यूं, आजकल की मांएं बहुत आलसी हो गयी हैं। हम लोगों ने तो बचपन में अपनी मां के हाथ का बना परांठा, हलवा और सिवैयां खायी हैं जो सेहत के लिहाज से सुरक्षित और पौष्टिक खाद्य पदार्थ हैं।’

शहर के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-3 की 49 वर्षीय भाजपा विधायक ने यह भी कहा था, ‘मैगी जैसे खाद्य पदार्थों का बहिष्कार किया जाना चाहिये और इन पर कठोर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई होनी चाहिये।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App